नहीं होना चाहते जीवन में बीमार, तो कभी नजर अंदाज न करें इन बातो को

कई बार अचानक हुए सरदर्द या घबराहट और बेचैनी को हम मामुली समझ कर नजरअंदाज कर देते हैं। सोचते हैं कि ये परेशानी अपने आप ठीक हो जायेंगी। पर चिकित्‍सकों की मानें तो ये सही रवैया नहीं है ऐसे लक्षणों को मामूली समझ कर ना करें नजरअंदाज। जानें कौन से वो नौ लक्षण जिन्‍हें गंभीरता पूर्वक लेना चाहिए।

अचानक तेज सरदर्द
अगर आप अचानक से तेज सरदर्द महसूस करें तो इसे बिलकुल भी आम बात मत समझिए ये जानलेवा हद तक खतरनाक हो सकता है। जब ये लगे कि इससे पहले सरदर्द की ऐसी तीव्र लहर आपने कभी महसूस नहीं है तो समझ जाइए कि ये आपके मस्‍तिष्‍क में किसी गंभीर समस्‍या की निशानी हो सकती है। फौरन किसी नजदीकी क्‍लीनिक या अस्‍पताल में डाक्‍टर से संपर्क करें।

अगर पेट के दोनो ओर या किसी एक तरफ हो दर्द
अक्‍सर ऐसे दर्द को लोग गैस की समस्‍यस समझ लेते हैं और ऐसा हो भी सकता है, लेकिन ये गंभीर बीमारी का भी लक्षण हो सकता है। महिलाओं में ओवरी सिस्‍ट की पहचान हो सकती है। वहीं इसकी वजह अपेंडिक्‍स की समस्‍या भी हो सकती है। दोनों ही स्‍थितियों आपको बड़ी सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है।

पैरों की ऐंठन
पैरों में ऐंठन कोई गंभीर समस्‍या नहीं मानी जाती और ये अक्‍सर थकान या लगातार चलने और पैर लटकाने से भी हो जाती है पर ये भी सच है कि ऐसी स्‍थिति में ये दो चार मिनट में गायब हो जाती है। लेकिन अगर ये लगातार बनी है तो deep-vein thrombosis यानि DVT मतलब गहरी नस घनास्रता की वजह हो सकती है। इस स्‍थिति में पैरों में ब्‍लड क्‍लॉट बन जाते हैं। बेशक पैरों में क्‍लॉट बनना घातक नहीं है पर ये क्‍लाट धीरे धीरे आपके लंग्‍स या हार्ट तक पहुंच सकते हैं और तब खतरनाक और जानलेवा हो सकते हैं। इसलिए अगर पैरों में बार बार, लगातार ऐंठन हो तो फौरन डाक्‍टर से संपर्क करें।

सीने में दर्द
वैसे तो पिछले कुछ दशकों में इसे लेकर काफी जागरुकता आयी है पर अभी भी काफी लोग ऐसे हें जो कभी उम्र, कभी खान पान और कभी फिटनेस को बहाना बना कर इस दर्द को नजरअंदाज कर देते हैं कि ऐसी परिस्‍थितियों में उन्‍हें तो दिल की बीमारी या हार्ट अटैक का खतरा नहीं हो सकता है। इसलिए हम एक बार फिर चेतावनी दे रहे हैं कि उपरोक्‍त सारी बातों के बावजूद आपको सीने के दर्द से हार्ट अटैक का खतरा हो सकता है। इसके दूसरे लक्षण हैं बांह में दर्द होना, जी मिचलान, सांस लेने में दिक्‍कत होना और पसीना आना। महिलाओं में इसके लक्षण कुछ इस प्रकार होते हैं अपर एब्‍डामन में दर्द, दवाब, गले में दर्द, थकान और जलन का महसूस होना।

लगातार पीठ दर्द
आप को लगातार पीठ दर्द होता है, खासतौर पर जब आप ढुकते या कोई भारी चीज उठाते हैं तो आप बस एक पेनकिलर लेकर इसे सामान्‍य बात समझ कर भूल जाते हैं। हममें से ज्‍यादातर ये जानने की कोशिश ही नहीं करते कि आखिर क्‍यों दर्द लगातार बना हुआ है। इसका इलाज किसी भी तौर पर एक पेन किलर नहीं है। यकीन मानिए ये नर्व्‍स की या स्‍लिप डिस्‍क की गंभीर समस्‍या हो सकती है। बेहतर होगा आप नजरअंदाज करना बंद करके अपने डाक्‍टर से पहली फुरसत में संपर्क करें वरना अपनी मांसपेशियों को स्‍थायी नुकसान पहुंचा लेंगे।

बिना वजह के वजन घटना
ज्‍यादा वजन वालों को लगता है कि ये बढ़िया बात है कि बिना वजह उनका वजन घट गया पर बिना किसी प्रयास के वजन घटना कई खतरनाक बीमारियों का लक्षण है। अगर आपका वजन बिना कोई उपाय किए 10 प्रतिशत से ज्‍यादा घट गया है तो ये डायबटीज, ओवर एक्‍टिव थायरॉड, कैंसर और लीवर डिसीज किसी भी वजह से हो सकता है अत फौरन डाक्‍टर से मिलें।

मसूड़ों से खून आना
ये भी एक ऐसा लक्षण है जिसे लोग मामूली समझ कर महत्‍व नहीं देते पर ये ब्‍लड क्‍लॉट के चलते हो सकता है जो ल्‍यूकीमिया की पहचान है। ल्‍यूकिमिया शरीर में रक्‍त बनाने वाले टिशूज का कैंसर है और बेहद खतरनाक है। इसके दूसरे लक्षण हैं नाक से खून आना, थकान, सोते में पसीना आना और बुखार रहना। इसे बिकुल नजरअंदाज ना करें और फौरन मेडिकल हेल्‍प लें।

बुखार
बुखर आना वैसे तो शरीर का विभिन्‍न इंफेक्‍शंस से बचने का अपना निजी सुरक्षा तंत्र है परंतु अगर आपको बार बार और लगातार बुखार आता है तो ये कई बीमारियों लक्षण हो सकता है। अगर आपको एक हफ्ते से ज्‍यादा 103 के आसपास तेज बुखार हो रहा है तो ये निमोनिया, अन्तर्हृद्शोथ, दिमागी बुखार, या एक यूरीन ट्रैक में संक्रमण की वजह से हो सकता है जबकि लगातार हल्‍का बुखार बने रहना साइनस इन्‍फेक्‍शन, किसी वायरस, दूसरे इन्‍फेक्‍शन या कुछ खास किस्‍म के कैंसर तक का कारण हो सकता है। मतलब लगातार बुखार से हो सकती हैं बीमारियां हजार।

सांस में दिक्‍कत या सांस फूलना
अगर आपको बार बार सांस की परेशानी हो रही जैसे आप चंद सीढ़ियां चढ़ें और सांस फूल जाये या आप सामान्‍य से जल्‍दी थकने लग जायें तो ये आम बात नहीं है इसे नजर अंदाज ना करें क्‍योंकि ये फुफ्फुसधमनी अन्त:शल्यता की निशानी हो सकती है। इस स्‍थिति में शरीर के किसी हिस्‍से से ट्रैवल करते हुए ब्‍लड क्‍लॉट आपके लंग्‍स तक आकर उसमें अटक जाता है। इससे के बाद के लक्षण हैं कफ में खून आना और सीने में दर्द होना।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com