14 को होगा फार्मेसिस्टों का विशाल धरना

लखनऊ। संविदा एवं वर्कचार्ज कर्मचारियों को नियमित करने, आउटसोर्सिंग पर रोक लगाने, डिप्लोमा इंजीनियरों की भांति 4600 ग्रेड पे को अनंदेखी करने, पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने,परिवहन निगम के कर्मचारियों की वेतन विसंगति दूर करने, संवर्गो का पुनर्गठन, केंद्र की तरह एलटीसी सहित 18 सूत्रीय मांग के समर्थन में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद द्वारा चरणबद्ध आंदोलन का निर्णय लिया है । यह जानकारी मंगलवार को राजकीय फार्मेसिस्ट महासंघ के अध्यक्ष सुनील यादव ने दी । साथ ही इस 14 फरवरी को प्रदेश के सभी जनपद मुख्यालयों पर होने वाले धरना प्रदर्शन में प्रदेश के सभी विधाओं के फार्मेसिस्ट हिस्सा लेंगे !

इन विभागों के कर्मचारी होगें धरने पर

जिसके क्रम में स्वास्थ्य विभाग, परिवहन विभाग, पी डब्लू डी, गन्ना विभाग, नलकूप विभाग, वाणिज्य कर, आई टी आई, , तहसील, समाज कल्याण विभाग , वन विभाग, लखनऊ विश्व विद्यालय, केजीएमयू, सहित जनपद के समस्त विभागों के कर्मचारी धरने में भागीदारी करेंगें।

शासन में धूल खा रही वेतन विसंगति की रिपोर्ट

महासंघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष जेपी नायक ने कहा कि फार्मेसिस्ट संवर्ग की वेतन विसंगति की रिपोर्ट शासन में धूल खा रही है, बार बार बैठकों में तत्काल निर्णय करने के फैसले के बावजूद शासनादेश निर्गत नही हो पा रहा है । इसलिए प्रदेश के विभिन्न विधाओं के हजारो फार्मेसिस्ट धरने में भागीदारी करेंगे ।

बैठक में होम्योपैथ के महामंत्री राजेश श्रीवास्तव, जे पी नायक,अध्यक्ष सुनील यादव, संगठन मंत्री राजेश सिंह , अरविंद कुमार, वी पी सिंह, प्रवीण यादव,अजय पांडेय, सुभाष श्रीवास्तव, अम्मार जाफरी, सचिन व अन्य लोग उपस्थित रहें ।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com