पुलिस को देख भागा जुआरी,नाले में गिरकर मौत, दो सिपाही निलंबित 

लखनऊ। ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में जुआ खेल रहे आधा दर्जन लोगों को पुलिस द्वारा दौड़ाया गया तो युवक पुलिस को देख कर भागे और एक युवक गहरे नाले में गिर गया।करीब एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद गोताखोरों ने युवक को नाले से निकाला और उसे आनन-फ़ानन  में ट्रामा में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई। परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए हंगामा काटा। आरोप है कि पुलिस ने युवक को दौड़ाया और उसको धक्का दे दिया जिससे उसकी नाले में गिरकर मौत हो गई। तनाव को देखते हुए दोनों आरोपित सिपाहियों अखिल और धर्मराज को निलंबित कर दिया गया है।
 हुसैनाबाद के डीपी बोरा प्लाट के पास रहने वाले निवासी इस्लामुद्दीन के बेटे शादाब अंसारी 30 वर्ष  अपने पांच दोस्तों के साथ गोमती किनारे गऊघाट बंधे पर मौजूद थे। बाइक का हूटर सुनकर पुलिस से बचने के लिए सभी भागे थे। नदी के किनारे नाले में तैरकर अन्य चार युवक तो बचकर निकलने में कामयाब रहे, लेकिन शादाब अधिक गहरे पानी में जाने से डूब गया। गोताखोर ने एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद निकाला और उसे ट्रामा में भर्ती कराया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों का आरोप है कि युवक बाहर बैठे हुए थे और पुलिस द्वारा उनको दौड़ाया गया और उनको नाले में धक्का दे दिये जाने का आरोप लगाया है। वहीं आक्रोशित परिजन संग अन्य लोगों ने सतखंडा पुलिस चौकी का घेराव कर आगजनी व तोडफ़ोड की कोशिश करते हुए जमकर हंगामा काटा। मौके पर मौजूद आलाधिकारियों ने  समझा-बुझाकर किसी तरह से प्रदर्शन समाप्त करवाया।एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है और जो भी तथ्य सामने निकल कर आते हैं उसके आधार पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इंस्पेक्टर अंजनी पाण्डेय ने बताया कि भागते समय शादाब गहरे नाले में गिर गया,जिससे पानी में डूबकर उसकी मौत हो गई। परिजनों की ओर से कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है। शादाब के परिवार में पत्नी के अतिरिक्त दो बेटे रजा और समद भी हैं।
पुलिस पर डूबोकर मारने का आरोप
पत्नी सामियां ने रोते-बिलखते बताया कि उनके पति शादाब जुआ नहीं खेलते थे, यह हो सकता है कि जिस जगह जुआ चल रहा हो वहां शादाब देखने के लिए खड़े हो गए हों। पुलिस अपना बचाव करने के लिए जुए का सहारा ले रही है, जो लोग जुआ खेल रहे थे पुलिस ने पैसे ऐंठने के चक्कर शादाब की नदी में डूबोकर जान ले ली।
तोडफ़ोड के बाद हंगामा
शादाब के घरवालों ने ठाकुरगंज पुलिस पर उसे नदी में डूबोकर मारने का आरोप लगाया और सैकड़ों समर्थकों के साथ मिलकर सतखंडा पुलिस चौकी पर जमकर हंगामा किया। बढ़ते हंगामे को देखते हुए कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। अफ सरों ने घंटेभर तक मान-मनौव्वल की, लेकिन जब बात न बनी तो सबको लाठी लेकर दौड़ा लिया, जिससे भीड़ तितर-बितर हो गई। शादाब के परिवारीजनों ने ट्रॉमा सेंटर के गार्डों पर अभद्रता व धक्का मुक्की के साथ गाली-गलौज का आरोप लगाया है। एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि थाने के सिपाही अखिल और धर्मराज ने जुआरियों को दौड़ाया था, दोनों को निलंबित करके उनकी भूमिका की जांच की जा रही है। जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।
=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com