उत्तर प्रदेशलखनऊ

ज्वैलर्स डकैती काण्ड: एसटीएफ समेत आधा दर्जन टीमें नकाबपोश बदमाशों की तलाश में जुटी

  • अपराधियों का रिकार्ड खंगालने में जुटी पुलिस

लखनऊ। कृष्णानगर थाना क्षेत्र में बेखौफ बदमाशों ने शनिवार रात आर.के ज्वैलर्स के शोरूम में लूटपाट व गार्ड समेत दो लोगों की हत्या कर लाखों के जेवरात बटोरकर भाग निकले। इस संबंध में पुलिस ने डकैती व हत्या की धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। डकैती काण्ड का खुलासा करने के लिए एसटीएफ समेत आधा दर्जन टीम बदमाशों की तलाश में जुटी है। हालांकि दर्जनों संदिग्धों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है,लेकिन कोई पुख्ता सुराग हाथ नहीं लगा। वहीं रविवार को कड़ी सुरक्षा में मृतकों का पोस्टमार्टम हुआ। पूरी वारदात पास लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। पुलिस सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर तफ्तीश में जुटी है। वहीं बताया जा रहा है कि डकैतों के गोली के शिकार हुए सर्राफ ा की हालत गंभीर बनी हुई है,जबकि महिला की हालत स्थित बतायी जा रही है।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि कृष्णानगर स्थित आर के ज्वेलर्स पर पड़ी डकैती व हत्या के मामले में हरिहर प्रसाद नगर निवासी आकाश गुप्ता पुत्र रवीन्द्र गुप्ता की तहरीर पर डकैती व हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। आकाश पीडि़त सर्राफ ा का भतीजा है। बदमाशों को पकडऩे के लिए एसटीएफ व पुलिस अधिकारियों के नेतृत्व में पांच टीमें गठित की गयी है। इनमें एक टीम एसपी नॉर्थ के नेतृत्व में गठित की गयी है जो पुरानी रंजिश की तहकीकात एवं जेल में पूर्व से मौजूद व जेल से छूटे हुए अपराधियों के बारे में जानकारी करेगी। दूसरी टीम एसपी टीजी के नेतृत्व में गठित की गयी है जो पूरे घटनाक्रम के सीसीटीवी फुटेज खंगालकर उक्त घटना का शीघ्र अनावरण करने हेतु कार्यवाही करेगी। तीसरी टीम एसपी पूर्वी के नेतृत्व में गठित की गयी है जो लोकल अपराधियों के बारे में जानकारी कर उक्त घटना का अनावरण हेतु प्रयास करेगी। चौथी टीम क्षेत्राधिकारी क्राईम,गाजीपुर के नेतृत्व में गठित की गयी है जो गैर जनपदों के लुटेरों व अपराधियों के सम्बन्ध में जानकारी करके घटना के सम्बन्ध में कार्यवाही करेगी। पांचवी टीम एसपी क्राईम के नेतृत्व में गठित की गयी है जो इस प्रकार की घटनाओं में पूर्व के 10 वर्षीय अपराधियों का सत्यापन कर घटना का शीघ्र-अतिशीघ्र अनावरण हेतु कार्यवाही करेगी। बताते चले कि राजीव गुप्ता रामनगर में जूलरी शोरूम चलाते हैं और पास ही स्नेहनगर में उनका घर है। शनिवार रात करीब ९:२० बजे वह शोरूम बंद करने की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान बाइक सवार तीन युवक बाइक से चंदरनगर चौकी की तरफ से आए और शोरूम के पास बाइक रोक दी। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दो लड़कों ने हेलमेट पहन रखा था जबकि एक का चेहरा मफ लर से ढका था। इससे पहले कोई कुछ समझ पाता तीनों ने ताबड़तोड़ फ ायरिंग शुरू कर दी और शोरूम के अंदर घुस आए। वारदात के समय लाइट नहीं आ रही थी और बदमाश वहां रखे जेवरात समेटने लगे। लोगों के मुताबिक राजीव ने शोर मचाया तो उन्हें दो गोलियां मार दी। इसके बाद बदमाश फ ायरिंग करते हुए बाहर आए और मदद के लिए आगे बढ़े आईसीआईसीआई बैंक के गार्ड देशराजए दुकानदार गुड्डू पटवा और मनीषा को गोली मार दी। इसके बाद तीनों बाइक से रॉन्ग साइड से भाग निकले। पुलिस को मौके से कई खोखे मिले हैं। आनन-फ ानन में घायलों को ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया,जहां इलाज के दौरान गार्ड देशराज और गुड्डू की मौत हो गई, जबकि राजीव कुमार गुप्ता का इलाज ट्रामा सेंटर में चल रहा है। चिकित्सकों ने उनकी हालत नाजुक बताई है। वहीं मनीषा के हाथ में गोली लगी है।

नौ वर्ष पूर्व भतीजे की अगवा कर हुई थी हत्या
आरके ज्वेलर्स के मालिक राजीव कुमार गुप्ता व उनके परिवार के जख्म एक बार फि र ताजे हो गए। उनके भतीजे की नौ वर्ष पूर्व अगवा करके हत्या कर दी गई थी। उनका शव बाराबंकी में मिला था। लुटेरों पकड़े गए थे, उन्हें सजा हुई है। जिस अंदाज से बदमाशों ने बेखौफ होकर ताबड़तोड़ गोलियां दागीं, उससे पुरानी रंजिश की भी आशंका जताई जा रही है। आरके गुप्ता व उनका परिवार भतीजे की हत्या का दुख अभी भुला भी नहीं पाया एक और घटना ने उनके परिवार को तोड़कर रख दिया। राजीव अस्पताल में हैं और उनकी हालत नाजुक है।

व्यापारी भड़के, कड़ी सुरक्षा में पोस्टमार्टम
घटना के बाद आक्रोशित व्यापारियों ने कानपुर रोड जाम कर प्रदर्शन किया और पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही बड़ी वारदात के विरोध में रविवार को सराफ ा व्यापारियों ने लामबंद होकर दुकाने बंद रखी। मौके पर पहुंचे जिम्मेदार अधिकारियों के आश्वासन के बाद प्रदर्शन सपाप्त कराया गया। पोस्टमॉर्टम रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच किया गया। बवाल व हंगामे की आशंका को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम के बीच पोस्टमॉर्टम हुआ।

मृतकों के परिजनों को पांच लाख का मुआवजा
ज्वैलर्स लूटकांड में मृत दुकान के कर्मचारी और एटीएम गार्ड के शव का पोस्टमॉर्टम रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच किया गया। इसी दौरान जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा और एसएसपी कलानिधि नैथानी भी पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे। वहींए मृतकों के परिवारीजनों को पांच-पांच लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की गई। डीएम ने एटीएम गार्ड देशराज के बेटे दीपक को आथिर्क मदद के तौर पर पांच लाख रुपये का चेक दिया गया। साथ ही पीडि़त परिवार को मकान दिलाने का भी आश्वासन दिया।

पुराने नौकरों समेत करीबियों पर गहराया शक
एसएसपी ने बताया कि उक्त घटनाक्रम में सीसीटीवी फु टेज में कुछ संदिग्ध व्यक्ति प्रतीत हो रहे हैं जिनके सम्बन्ध में टीमें लगी हुयी है। घटना का शीघ्र-अतिशीघ्र अनावरण करने हेतु हर सम्भव प्रयास जारी है। विभिन्न जनपदों के करीब 50 अपराधियों को चिन्हित किया गया है तथा लुटेरों के फ ोटो जारी किये जा रहे है। करीबियों व पूर्व के कर्मचारियों समेत दो दर्जन से अधिक संदिग्ध पुलिस के रडार पर हैं। वहीं मौके पर टॉयलेट जाने वाला कर्मचारी श्याम भी पुलिस के शक के दायरे में है। सूत्रों की माने तो बदमाशों ने जिस तरह से ताबड़तोड़ गोलियां बरसायी उससे लोगों का कहना है कि राजीव गुप्ता ही उनकी निशाने पर था। पुलिस को गुमराह करने के लिए लूटपाट भी की। वहीं बीच-बचाव व पकड़े जाने की डर से बदमाशों कर्मचारी व गार्ड की गोली मारी। फिलहाल पुलिस कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए हर पहलुओं पर जांच-पड़ताल कर रही है।

loading...
Loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com