अगर अपने बच्चों को सुबह नाश्ते में देते हैं ब्रेड और जैम, तो हो जाएं सावधान

बच्चों का खाना खिलाने के समय माता-पिता को जबरदस्त कसरत करनी पड़ती है। माता-पिता अक्सर परेशान हो जाते हैं की अगर मैं बच्चों को सही तरीके से पोषण देना हो तो क्या देना चाहिए? क्योंकि बच्चे कब क्या खाने की जिद करेंगें यह कह नहीं सकते। अक्सर बच्चें माता पिता को जंक फूड खाने के लिए परेशान करते हैं।

अगर माता पिता घर में बनी किसी चीज को खाने के लिए बोलते हैं तो विरोध करते हैं। लेकिन एक ऐसा पदार्थ है जिसे बच्चे बिना कुछ नाटक करके खाने के लिए तैयार होते हैं। वह पदार्थ बाजार में मिलने वाला जैम है। यहां जानें जैम किस तरह से नुकसानदायक होता है…

ब्रेड जॅम, जॅम रोटी, जॅम बिस्किट यह एैसे कुछ ऑप्शन है जो बच्चे नाश्ते के वक्त, दोपहर के खान के टाइम और रात के खाने के समय में आराम से खा लेते हैं। ये सिर्फ बच्चों के लिए ही नहीं, माता-पिता के लिए भी सबसे अच्छे और आसान ऑप्शन हैं। क्योंकि इसको बनाने के लिए बहुत अधिक प्रयास की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन क्या जॅम वास्तव में हेल्दी है? टीवी में जाहिरातो में दिखाते है की, जॅम में फल होते हैं, न केवल पोषण, बल्कि बच्चों के हेल्द के लिए जॅम बहुत हेल्दी है। लेकिन क्या वाकई ऐसा है?

एक चम्मच जैम 2 चम्मच चीनी के बराबर है। कई कंपनियों में जैम में फल होने का दावा किया जाता है। वास्तव में, जैम तयार करने के लिए फल को उबाल के उसमें चीनी मिलाएं जाती हैं। फल को उबालने के बाद फल में से पानी स्तर कम हो जाता हैं और फलों में से पोषक तत्व नष्ट हो जाती हैं। कुछ फलों में समग्र रूप से विटामिन-सी होता है, जैम तैयार करते समय विटामिन-सी पूरी तरह से नष्ट हो जाता है।

जिन बच्चों को जैम खाने की आदत होती है और जो नियमित रूप से जैम खाते हैं। उन बच्चों में मोटापे के साथ-साथ हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है। इसके पीछे कारण यह है कि आप अधिक जैम खाकर अधिक कैलोरी का सेवन कर रहे हैं।

केवल जॅम ही नहीं केचअप और अन्य प्रिजर्व्ड खाद्य पदार्थों में चीनी की मात्रा अधिक होती है और इसीलिए बच्चे लोग यह ज्यादा पसंद करते हैं। इस तरह के पदार्थ मस्तिष्क को गलत संकेत देते हैं की, पेट भरा हुआ है और इसके कारण बच्चे लोग खाने के लिए नाटक करते हैं।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com