राहुल गांधी ने तमिलनाडु में विद्यार्थियों से कहा कि मुझे ‘सर’ नही सिर्फ ‘राहुल’ कहिए

तमिलनाडु ब्यूरो से डॉक्टर आर.बी. चौधरी
चेन्नई (तमिलनाडु)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज तमिलनाडु के दौरे पर हैं। यहां वह चेन्नई के स्टेला मैरिस कॉलेज फॉर वुमेन की छात्राओं के साथ खूब जमकर संवाद किया। इसमें दो राय नहीं कि राहुल लोकसभा का चुनाव नजदीक आने पर युवाओं को अब साधने में जुट गए हैं। इसलिए वह तमिलनाडु के चुनावी अपने अभियान को युवाओं के संवाद से किया और बड़े बिंदास अंदाज में विद्यार्थियों के सवालों का जवाब दिया। विद्यार्थियों से वार्तालाप के दौरान कई जगह ठहाकों से पूरा हाल गूंज उठता।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की विद्यार्थियों से बातचीत करते हुए एक जगह अचानक उनकी जुबान फिसल गई ,उन्होंने नीरव मोदी की जगह नरेंद्र मोदी का नाम ले लिया। हालांकि इसका अहसास होते ही उन्होंने अपनी गलती तुरंत सुथार ली।मगर तब-तक हॉल ठहाकों से गूंज उठा। फिर आगे भी ठहाकों का दौर चलता। राहुल गांधी ने इस दौरान स्टूडेंट्स के तमाम सवालों के जवाब भी दिए। आखिर में राहुल ने 13 हजार करोड़ से ज्याादा के बैंक लोन घोटाले के आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की चर्चा करने से नहीं चूके।

राहुल गांधी ने विद्यार्थियों से बड़े ढंग से प्रश्न उत्तर किया उनका परिधान और बोलने का तरीका देखने लायक था। राहुल गांधी विद्यार्थियों से बातचीत के समय एक अलग अंदाज में नजर आए और वह जींस और टी-शर्ट पहने हुए थे विद्यार्थियों से बातचीत के दौरान उन्होंने पूछाकि नीरव मोदी ने कितनी नौकरियां पैदा कीं , इसका सही जवाब देते हुए उन्होंने कहां कि मैं आपके साथ शर्त लगा सकता हूं कि सिर्फ 30 लाख रुपये के लोन में आप इससे ज्यादा नौकरियां पैदा कर सकते हैं। राहुल गांधी ने इस दौरान युवा उद्यमियों के लिए बैंकिंग सिस्टम को खोलने पर चर्चा की ताकि युवा बिजनेस के लिए लोन ले सकें।

उन्होंने कहा कि हम वह पैसा वापस लाना चाहते हैं जो 15-17 भ्रष्ट कारोबारियों के पास गया है।इस दौरान राहुल गांधी मुस्कुराए तो हॉल में ठहाके गुजरने लगे। राहुल गांधी ने कहा कि यह जून की सरकार आने पर सबसे पहले युवा महिलाओं और युवाओं के लिए बैंकों के दरवाजे खोले जाएंगे ताकि वे लोन लेकर बिजनेस कर सकें। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चेन्नई में कहा कि 2019 में सरकार बनने पर हम महिला आरक्षण बिल पास करेंगे. 33 प्रतिशत सीटें महिलाओं को आरक्षित होंगी.

इसके बाद राहुल गांधी ने प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में सरकार बनने पर उनकी सरकार मिनिमम इनकम गारंटी जैसे क्रांतिकारी कदम उठाएगी. डायरेक्ट कैश ट्रांसफर सिस्टम के जरिए हर व्यक्ति को न्यूनतम आय की सुविधा दी जाएगी। राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी के लोगों की यह आदत है कि वह हर सिद्धांत और हर सिस्टम को नकल कर लेते हैं। इसे पूरा देश प्रभावित हो रहा है। इसका सीधा असर आम आदमी पर पड़ रहा है। कांग्रेश हमेशा सभी धर्मों संस्कृतियों एवं रीति रिवाजों का सम्मान करती आई है।

छात्राओं के साथ संवाद के दौरान एक छात्रा ने राहुल को ‘सर’ से संबोधित किया। इसके जवाब में राहुल गांधी ने छात्रा को टोकते हुए कहा कि क्या आप मुझे ‘सर’ के बजाय सिर्फ ‘राहुल’ कहकर पुकारेंगी। राहुल की इस टिप्पणी पर पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट और चियर्स की आवाज से गूंज उठा. छात्राओं के इस रिएक्शन को देखने के बाद राहुल भी मुस्कुराते हुए नजर आए। राहुल गांधी ने विद्यार्थियों से कहा कि क्या प्रधानमंत्री आप सब के बीच इस तरह खड़े होकर आप लोगों के सवालों को जवाब दे सकते हैं तो मैं क्यों नहीं।

=>