चार दिन बाद पुलिस ने रिपोर्ट लिखने से किया इन्कार

लखनऊ। आलमबाग पुलिस ने चार दिन तक गरीब रिक्शा चालक को बार बार थाने के चक्कर लगवाने के बाद उसके साथ होने वाली दुर्घटना की रिपोर्ट लिखने से ही इन्कार कर दिया ।
गत 16 फरवरी की रात रिक्शा चालक सुखदेव विश्वकर्मा को पीछे से एक ऑटो चालक ने टक्कर मार दी जिससे रिक्शे पर लदा सामान तो तहस नहस हो ही गया साथ ही रिक्शा चालक को 100 नंबर वालो ने गम्भीर हालत में लोक बन्धु अस्पताल में रात बारह बजे के लगभग भर्ती कराया तथा एक परिचित को सूचना दी । पीड़ित को सिर में लगी चोट पर लोक बन्धु अस्पताल में छः टाँके लगाने के बाद सिर की MRI कि जाँच के लिए KGMU के ट्रामा सेंटर रिफर कर दिया गया ।
पीड़ित गरीब रिक्शा चालक अपने गृह जनपद लखीमपुर के गोला गोकर्ण नाथ से अपने इलाज व आराम के बाद जब 11मार्च को लखनऊ वापस आया तथा KGMU में डॉक्टर को दिखाने के बाद आलमबाग थाने रिपोर्ट लिखाने गया तो अगले दिन आने को उससे कहा गया । तब से ही रोज सुबह शाम चक्कर लगाते हुए चार दिन बीत जाने पर आज थाने के इंस्पेक्टर सोनकर द्वारा रिपार्ट लिखने से ही इन्कार कर दिया गया ।
पीड़ित गरीब रिक्शा चालक अब जिले के एसएसपी साहब से मिल कर अपना दुःख दर्द बताने व रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कहने को मजबूर है।

=>