एटीएम कार्ड क्लोनिंग कर करोड़ों हड़पने वाला महाराष्ट्र से वांटेड गिरफ्तार

  • एसटीएफ व साइबर अपराध शाखा पुणें की संयुक्त टीम गोण्डा से दबोचा  
लखनऊ। उत्तर प्रदेश एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स ) एवं साइबर अपराध शाखा पुणें की संयुक्त टीम ने एटीएम कार्ड क्लोनिंग करने वाले फरार आरोपित नदीम को जनपद गोण्डा से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपित के कब्जे से स्वैप मशीन, स्कीमर, दो मोबइल फोन, एक पावर बैंक व 10 एटीएम कार्ड बरामद हुआ है। आरोपित के खिलाफ विधिक कार्रवाई कर उनके साथियों के बारे में पूछताछ की जा रही है।
एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने बताया कि आईटी एक्ट थाना चर्तुश्रंगी, जिला पुणे, महाराष्ट्र में वांछित अभियुक्त नदीम की गिरफ्तारी में सहयोग के लिए एसटीएफ उत्तर प्रदेश को पत्र लिख कर अनुरोध किया गया था। विश्वसनीय स्रोत के माध्यम से पता चला कि कि फरार अभियुक्त नदीम अपने गांव महादेवा थाना वजीरगंज जनपद गोण्डा में मौजूद है। इस सूचना पर एसटीएफ व क्राइम ब्रान्च पुणें व स्थानीय पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा आवश्यक बल प्रयोग कर अभियुक्त नदीम को घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया गया। पकड़े गये आरोपित ने अपना नाम व पता नदीम पुत्र अकबर अली निवासी ग्राम महादेवा थाना वजीरगंज जनपद गोण्डा बताया है। गिरफ्तार अभियुक्त को जनपद गोण्डा के सक्षम न्यायालय में प्रस्तुत किया गया है, जिसे यात्रा रिमाण्ड प्राप्त अपराध शाखा पुणे द्वारा आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।
बिना गार्ड वाले एटीएम मुफीद  
पूछताछ पर नदीम ने  बताया कि जिन एटीएम पर जहां  गार्ड नहीं रहते हैं वहां पर स्कीमर लगा कर एटीएम कार्ड का डाटा कापी कर लेते हैं फिर उस स्कीमर को गिरोह के सरगना नसीर को नेपाल भेजते हैं।  जहां पर वह सादे  कार्ड पर स्कीमर का डाटा अपलोड कर नया क्लोन कार्ड बनाकर आसानी से पैसा निकाल कर लेते है। इन रूपयों को हम लोग आपस में बांट लेते हैं। नदीम ने बताया कि अब तक क्लोन कार्ड बना कर करोड़ों रुपए कई खातों से निकाल चुके हैं।
=>