उत्तर प्रदेशप्रयागराज

प्रियंका गांधी ने कहा : बेटी का दर्द मां से बेहतर कौन समझ सकता है

प्रयगराज। कांग्रेस महासचिव तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने सोमवार को गंगा पूजन के साथ लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी के प्रचार अभियान का आगाज किया। रविवार देर रात अपने पुरखों की धरती प्रयागराज पहुंचीं प्रियंका सोमवार सुबह 9.35 बजे स्वराज भवन से निकलकर सीधे संगम क्षेत्र स्थित बड़े हनुमान मंदिर दर्शन करने पहुंचीं और पंचामृत से अभिषेक किया। गंगा पूजन के दौरान उन्होंने कहा कि बेटी का दर्द मां से बेहतर कौन समझ सकता है। इसके बाद किला स्थित अक्षयवट और सरस्वती कूप के दर्शन किए। वहां से तकरीबन 10.25 बजे संगम नोज पहुंचीं, जहां घंटों पहले से उत्साहित कार्यकर्ता ‘कांग्रेस जिंदाबाद’, ‘प्रियंका नहीं ये आंधी है दूसरी इंदिरा गांधी है’ जैसे नारे लगा रहे थे।

संगम पर प्रियंका ने मां गंगा का दूध से अभिषेक किया, दोने में जलता दीप और पुष्प अर्पित किया और अंजुलि में गंगाजल लेकर आचमन किया। जिला प्रशासन ने करछना के मनैयाघाट से गंगा यात्रा की अनुमति दी थी, लेकिन प्रियंका ने गंगा पूजन करने के बाद प्रोटोकाल दरकिनार करते हुए संगम से अरैल तक साधारण नाव से ही गंगा पार की। अरैल से गाड़ी से करछना के लिए रवाना हुईं, जहां मनैयाघाट से स्टीमर पर दुमदुमा घाट के लिए आगे बढ़ीं। दुमदुमा घाट पर लोगों को संबोधित करते हुए गंगा की दशा पर कहा-‘मां (गंगा) के घर आई हूं, मां का दर्द बेटी ही समझ सकती है। किसानों, युवाओं को कुछ नहीं मिला।

चौकीदार तो सिर्फ उद्योगपतियों के होते हैं
यह कहते हुए नरेन्द्र मोदी पर तंज किया कि ‘चौकीदार तो सिर्फ उद्योगपतियों के होते हैं, किसानों के लिए नहीं।’ दुमदुमा से सिरसा पहुंचीं, जहां कपसाई गंगा मार्ग पर पैदल मार्च किया। उन्हें देखने के लिए हजारों की भीड़ उमड़ पड़ी। मार्च करते हुए अचानक लगभग एक दर्जन घर में जाकर लोगों का हालचाल पूछा। राजकुमारी के यहा संतरे का जूस पिया। सेजल और अंशिका नाम के बच्चों से पढ़ाई के बारे में पूछा और पिता सफाई लाल से कहा-‘बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए कांग्रेस को वोट दें।’

भाई ने जो जिम्मेदारी दी, निभाने आई हूं
सिरसा में शिवगंगा वाटिका में आयोजित सभा में 2.40 बजे पहुंची प्रियंका ने कहा-‘नेता ऊपर बैठते हैं और आप नीचे, इसलिए नेता आपकी बात नहीं सुनते।’ सभा के बाद स्टीमर से प्रयागराज के हंडिया स्थित लाक्षागृह पहुंचीं, जहां घाट पर सभा में कहा-‘मेरे भाई राहुल ने मुझे जिम्मेदारी दी है, उसे निभाने आप लोगों के बीच आईं हूं।’ वहां से 5.10 बजे पड़ोसी जिले में स्थित सीतामढ़ी के लिए स्टीमर से ही रवाना हुईं। इस दौरान कांग्रेस के राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी, प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह आदि साथ रहे।

loading...
Loading...

Related Articles