उबर कैब चालक की गला रेतकर निर्मम हत्या 

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के बंथरा थाना क्षेत्र में एक उबर टैक्सी चालक की गला रेतकर हत्या कर दी।   घटना को अंजाम देकर हत्यारे मौके से फरार हो गए। राहगीरों की सूचना पा मौके पर पहुंची पुलिस ने खून से लथपथ शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने इस संबंध में हत्या का अभियोग पंजीकृत कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस पूरे मामले में गहनता से तफ्तीश कर रही है।
जानकारी के अनुसार, घटना बंथरा थाना क्षेत्र के नरेरा के पास एक गाड़ी के भीतर एक युवक का खून से लथपथ शव पड़ा होने की सूचना मिली थी। सूचना पाकर वह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शव कब्जे में लिया तो गले पर धारदार हथियार से कटे के निशान थे। तलाशी के दौरान जेब से ड्राइविंग लाइसेंस से उसकी पहचान दुबग्गा काकोरी में रहने वाला अजीत अवस्थी (50) के रूप में हुई। वह उबर कैब का ड्राइवर था। पूछताछ में पता चला कि उसकी खुद की गाड़ी थी जोकि उबर से सम्बद्ध थी। बंथरा निरीक्षक रमेश सिंह रावत ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि अजीत के मोबाइल पर मंगलवार रात 8:00 बजे कॉल आयी थी। उसने कहा था कि सवारी उन्नाव जानी है। इस पर वह गाड़ी लेकर गया था। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। स्थानीय लोगों ने लूटपाट के दौरान हत्या की आशंका जताई है। फिलहाल पुलिस ने लूट की घटना से इंकार किया है। पुलिस आस-पास के लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगालते हुए हत्यारों की तलाश में जुटी है।
होली की खुशियां मातम में बदली 
मृतक के बेटे राहुल अवस्थाी ने बताया कि रात करीब 8 बजे पिता से बात हुई थी। उन्होंने रात में करीब 12 बजे वापस लौटने की बात कही थी। सुबह करीब 6 बजे पिता को फोन लगाया तो रिसीब नहीं हुआ। इसके कुछ देर बाद दुबारा फोन किया तो बंथरा पुलिस ने फोन रिसीब कर हत्या होने की सूचना दी। सुबह उसका शव मिलने की सूचना मिली तो घरवालों के होश उड़ गए। घर में होली की खुशियां मातम में तब्दील हो गई।
आलाकत्ल व 15 सौ रूपये बरामद 
पुलिस ने बताया कि छानबीन के दौरान अजीत के कार से खून से सनी चाकू और दो मोबाइल फोन व 15 सौ रुपए भी बरामद हुए है। मृतक की पत्नी उषा की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या और शव को ठिकाने लगाने  की धारा में रिपोर्ट दर्ज की है।  क्षेत्राधिकारी लाल प्रताप सिंह के मुताबिक बदमाशों ने वारदात कहीं और कर शव यहां ठीकाने लगाया है।
=>