अन्य राज्यगाजियाबाद

हँसना ईश्वर का सबसे बहुमूल्य उपहार-विपिन गुप्ता

गाजियाबाद, अखिल भारतीय योग संस्थान द्वारा आयोजित त्रिदिवसीय हास्य योग शिविर का शुभारम्भ कबीर पार्क,कवि नगर में संस्थान के अध्यक्ष के के अरोड़ा द्वारा ओ३म् की ध्वनि व गायत्री मंत्र द्वारा किया गया। इस मौके पर साधकों को ताड़ासन,विरेचन क्रिया,भस्रिका, हाथों और पैरों के सूक्ष्म अभ्यास कराए ओर इसके लाभों की चर्चा की। संस्थान के महामंत्री श्री देवेन्द्र हितकारी ने मंच का कुशल संचालन करते हुये अशोक शास्त्री व वीना वोहरा व मीता खन्ना द्वारा हांस्य योग क्लब दिल्ली से पधारे हास्य योग-शिक्षक सर्वश्री विपिन गुप्ता जी व सुनील कुमार का माल्यार्पण व बुके देकर सम्मानित किया। विपिन गुप्ता जी ने हास्य योग के बारे में बताया कि ‘हँसना ईश्वर का सबसे बहुमूल्य उपहार है’ उन्होंने आगे कहा कि आज के तनावपूर्ण जीवन मे व्यक्ति के लिये हँसी से बढ़कर कोई दवा नही हो सकती। थोड़ा सा हँसी का माहौल होने से मन का बोझ तो हल्का होता ही है साथ ही मस्तिष्क पर भी इसका अच्छा प्रभाव पड़ता है,पूरे शरीर में उत्साह एवं नवीन आशा का संचार भी होता है ओर मन में छाई उदासी समाप्त होती है,मन प्रसन्नचित्त होकर आनन्द की अनुभूति करता है। सुनील कुमार जी ने हास्ययोग का अभ्यास कराते हुए बताया कि हँसना मुस्कुराना सेहत के लिये बहुत फायदेमंद होता है,हँसने वालों के चेहरे पर बुढ़ापा देर से आता है,हँसने के कारण मांसपेशियों की लगातार कसरत होती है जिससे चेहरे में रक्त का संचार होता है,श्वसन की क्रिया तेज होती है जिसकी वजह से आॅक्सिजन अधिक मात्रा में शरीर में पहुंचती है और दूषित वायु बाहर निकलती है,खुलकर हँसने से पाचन तन्त्र भी ठीक रहता है और मस्तिष्क का तनाव भी कम होता है। हास्य योग शिविर के मुख्य अतिथि पूर्व जनरल डॉ वी के सिंह जी (सांसद) को शिविर में आये गणमान्य व्यापारियों द्वारा माल्यार्पण व बुके देकर सम्मानित किया गया। डॉ वी के सिंह जी ने आयोजकों का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि हास्य ओर योग का अद्भुत संगम है ‘हास्ययोग’, ‘हंसता भारत-स्वस्थ भारत’ उन्होंने आगे कहा कि आगामी 11 अप्रेल 2019 को राष्ट्र का महापर्व है जिसमें देशवासियों का भाग लेना नैतिक कर्तव्य के साथ साथ देश की दिशा और दशा को सवारने का कार्य करेगा।
loading...
Loading...

Related Articles