जौनपुर

धुमधाम से मनाया गया उ प्र श्रमजीवी पत्रकार यूनियन का होली मिलन समारोह

जौनपुर:एक दूसरे की संस्कृति व सभ्यता का सम्मान करना ही होली मिलन समारोह है-
जौनपुर। उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन सम्बन्ध (आई एफ डब्ल्यू जे )की जिला इकाई के तत्वाधान में कलेक्टर परिसर स्थित सामुदायिक सभागार/ पत्रकार भवन में होली मिलन समारोह आयोजित किया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता तरूण मित्र हिंदी दैनिक के समुह संपादक कैलाश नाथ ने किया समारोह के मुख्य अतिथि दीवानी न्यायालय अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष बृज नाथ पाठक एवं विशिष्ट अतिथि डॉ पी सी विश्वकर्मा जिला शासकीय, अधिवक्ता अनिल कुमार सिंह कप्तान ,प्रोफेसर आर एन त्रिपाठी और जूरी मेंबर डॉ दिलीप कुमार सिंह रहे, कार्यक्रम का संचालन कुवंर यशवंत सिंह और महामंत्री संतोष सौंथालिया ने संयुक्त रूप से किया।

कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के चित्र पर अतिथियों द्वारा माल्यार्पण और दीप प्रज्वलन से हुआ
सरस्वती वंदना यूनियन के सदस्य पीयूष कुमार मिश्र ने प्रस्तुत किया उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के अध्यक्ष विजय प्रकाश मिश्र ने सभी अतिथियों, सदस्यों, पदाधिकारियों और अभ्यागत का स्वागत करते हुए होली की बधाई दिया और होली मिलन समारोह की प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला।

सदस्यों, पदाधिकारियों द्वारा एक दूसरे को अबीर गुलाल लगाकर स्वागत किया गया और यूनियन के द्वारा होली की बधाइयां सभी आगंतुकों को दी गई एवं समस्त अतिथियों का माल्यार्पण कर एवं अंगवस्त्रम भेंठ कर उनको सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर कमबख्त जौनपुरी ने कहा की “नाली बनाने को बी टेक चाहिए बच्चों को पढ़ाने के लिए बी टेक चाहिए, कमबख्त को हैरत है इस संविधान पर देश को चलाने के लिए अंगूठा टेक चाहिए  मोनिस जौनपुरी ने कई सामाजिक रचनाएं प्रस्तुत किया “दिए का हौसला देखा है , जबसे हवा रास्ते से हटाना चाहती है ।

यह बादल है कि बरसे जा रहे हैं नदी तो कब से घटना चाहती है, शायर आसिफ मजहर ने सुनाया सरहदों पर बहुत तनाव है क्या जरा पता करो चुनाव है क्या गिरीश श्रीवास्तव “गिरीश” एडवोकेट ने अपनी विविध रंग की रचनाओं से श्रोताओं को खूब हंसाया और गुदगुदाया।

समारोह को संबोधित करते हुए दीवानी न्यायालय अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष बृज नाथ पाठक ने कहा की होली मिलन एक सामाजिक परंपरा है जिससे प्रेम सौहार्द और भाई चारा प्रकार होता है जनपद की गंगा जमुनी तहजीब बेमिसाल है । जिला शासकीय अधिवक्ता अनिल कुमार सिंह कप्तान ने कहा कि होली मिलन की सफलता एक दूसरे की संस्कृति और सभ्यता का सम्मान करने में है ।
प्रोफेसर आरएन त्रिपाठी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश एक उत्सव धर्मी देश है यहां हर दिन त्यौहार है आवश्यकता है इस को संजीदगी से जीने का, हमारे देश और समाज से सबको गले लगाया है, आवश्यकता है इस परंपरा को आगे बढ़ाने की।

विधि वक्ता डॉ पी सी विश्वकर्मा ने अपनी नई रचनाओं के माध्यम से कार्यक्रम को ऊंचाई दिया ।  दिलीप सिंह ने कार्यक्रम की प्रासंगिकता पर विस्तृत प्रकाश डाला। पूर्व चेयरमेन किशोर न्याय बोर्ड संजय उपाध्याय ने होली को दिलों को जोड़ने का त्यौहार बताया अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में संपादक कैलाश नाथ ने कहा समाज में एक दूसरे के प्रति नफरत को समाप्त करने, कम करने का नाम ही होली है। हमें अपनी संस्कृति और सभ्यता का अर्थ रखने का संदेश ऐसे त्योहारों के माध्यम से देना चाहिए।

इस अवसर पर मोहर्रम अली ,ए के सिंह ,अरुण यादव ,डॉ जितेंद्र कुमार दुबे ,रियाजुल हक,प्रमोद पांडे ,चंद्रमणि पांडे, ओम प्रकाश मिश्र ,मनीष गुप्ता ,संतोष सेठ गिरीश कुमार शुक्ला ,दीपक चटकारिया, डॉ यशवंत गुप्ता, ओम प्रकाश यादव ,नंदलाल मोर्य एडवोकेट ,प्रकाश चंद शर्मा, आलोक कुमार सिंह, संजय कुमार दुबे ,बिहारी लाल, योगेंद्र कुमार यादव ,संतोष चतुर्वेदी, नीरज कृष्ण ,जोगेंद्र कुमार यादव, मनोज कुमार सिंह, रामनाथ यादव, लाल बहादुर यादव, अजवद कासमी, प्रमोद दुबे, अखिलेश मिश्र, जुबेर अहमद, चंद्र प्रकाश तिवारी ,विनोद मिश्र संजीव चौरसिया, डीडी मिश्र एडवोकेट गंगा प्रसाद चौबे ,दीपक वर्मा यादव ,प्रमोद कुमार माली सुशील स्वामी, सूरज साहू ,संजय शुक्ला ,आदित्य, एमएच सिद्दीकी, शिव प्रधान, डॉ राकेश कुमार मिश्र ,दिनेश तिवारी ,कंचन सिंह, मुन्नीलाल ,सुधाकर शुक्ला सहित अनेक पत्रकार एवं सूचना विभाग के कर्मचारी मौजूद रहे।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button