चीन के खिलाफ आर्थिक मोर्चे पर भारत ने दिखाया दम, 31 फीसदी बढ़ा निर्यात

भारत को अंतरार्ष्ट्रीय स्तर पर व्यापार में एक बार फिर सफलता मिली है। आज भारत एशिया में एक मजबूत आर्थिक शक्ति बनकर उभर रहा है। चीन और भारत, ये दोनों ही देश एशिया की दो सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति है। हालांकि निर्यात के मामले में चीन सबसे आगे है।

ऐसे में चीन को भारतीय व्यापार में एक बड़ा झटका लगा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत में चीन से होना वाला आयात कम हो गया है, वहीं भारत का चीन को निर्यात बढ़ गया है। भारत का चीन को निर्यात करीब 31 प्रतिशत बढ़ गया है, जिससे भारत का चीन के साथ व्यापार घाटा कम हो गया है। जानकारों का मानना है कि भारत को यह सफलता अमेरिका और चीन के बीच जारी ट्रेड वार की वजह से मिली है।

बता दें कि अमेरिका और चीन के बीच लंबे समय से ट्रेड वॉर चल रही है। जिसका फायदा भारत की कॉमर्स मिनिस्ट्री ने नई स्ट्रैटेजी बनाकर उठाया। मिनिस्ट्री ने करीब 603 सामानों की लिस्ट तैयार की, जिसकी चीन में सबसे ज्यादा डिमांड है। जिससे आज भारत को ये सफलता प्राप्त हुई है।

2018-2019 वित्त वर्ष के प्रोविजनल आंकड़ों के अनुसार, भारत का चीन को निर्यात 31 फीसदी बढ़कर 1.2 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया है। वहीं चीन को भारत से होने वाली आय में 8 फीसदी की गिरावट आई है। यह आय गिरकर 4.8 लाख करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया है।

ये उत्पाद चीन को निर्यात करता है भारत

भारत से चीन को ऑर्गेनिक केमिकल्स, प्लास्टिक रॉ मैटेरियल, कॉटन यार्न के अलावा गैर बासमती चावल जैसे कृषि सामानों को निर्यात करता है। इसके अलावा कृषि उत्पादों, पशु चारा, तिलहन, दूध और दूध से बने प्रोडेक्ट और दवाईयों की भी डिमांड बढ़ी है।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com