टेक मित्र

अब Skype लाइट से जोड़ेगा आधार कार्ड, जाने इसके फायदे

इस नए फीचर की मदद से स्काइप के जरिए बातचीत के दौरान सामने वाले यूजर की पहचान करना संभव हो गया है। इसके तहत वीडियो कॉलिंग के दौरान ही यूजर्स को मेन्यू बटन में रिक्वेस्ट आधार वेरिफिकेशन का ऑप्शन नजर आएगा।

इसके बाद जिस व्यक्ति से आप स्काइप लाइट ऐप पर वीडियो चैट कर रहे हैं उसके पास वेरिफिकेशन रिक्वेस्ट जाएगा। जैसे ही सामने वाला यूजर आपका रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करेगा तब आपके आधार से जुड़े मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा। इसके बाद पहचान की पुष्टि की जा सकेगी।

गौरतलब है कि इस साल फरवरी में माइक्रोसॉफ्ट ने स्काइप लाइट को भारत में लॉन्च किया था, लॉन्च के वक्त ही कंपनी ने स्काइप के साथ आधार के इंटिग्रेशन की भी घोषणा की थी। अब कंपनी ने स्काइप लाइट ऐप में आधार कार्ड को जोड़ दिया है। यानी अब स्काइप पर लाइव बातचीत के दौरान आधार वेरिफिकेशन के जरिए सामने वाले की पहचान की जा सकेगी।

आधार की सिक्योरिटी से जुड़े सवाल पर माइक्रोसॉफ्ट का कहना है कि स्काइप या स्काइप लाइट ऐप यूजर्स के डेटा को स्टोर नहीं करेगा। इस इंटीग्रेशन के बाद से इस फीचर का इस्तेमाल सरकारी अधिकारियों और जॉब के लिए इंटरव्यू में हो सकेगा।

कंपनी का ये भी कहना है कि चैट के दौरान कंपनी आपके किसी भी ऑडियो या वीडियो जैसी पर्सनल जानकारियों को स्टोर नहीं करेगा। ये पूरी तरह से सुरक्षित हैं और इनक्रिप्टेड हैं।

इस फीचर के आने के बाद आप सामने वाले यूजर से बात की शुरुआत में ही उसके पहचान की पुष्टि कर सकते हैं। इससे आपको सामने वाले इंसान से किसी भी तरह की निजी जानकारी साझा करते वक्त भी भय या डर नहीं रहेगा।

loading...
=>

Related Articles