पिता का इलाज कराने आये सीआरपीएफ व आईटीबीपी के जवानों की हॉस्पिटल प्रशासन ने की पिटाई

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में प्राइवेट अस्पतालों की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला एसएसपी ऑफिस के सामन केके हॉस्पिटल का है, जहां पर सीआरपीएफ और आईटीबीपी का जवान अपने रिटायर्ड एयर फोर्स के पिता का इलाज कराने 8 अप्रैल को आया था। इलाज के दौरान फौजी जवानों के पिता की मौत हो गई। फौजी जवानों का आरोप है कि डॉक्टर के स्थान पर नर्सिंग स्टाफ इलाज कर रहा था, जिससे उनके पिता की मृत्यु हो गई । इतना कहने के बाद ही हॉस्पिटल प्रशासन और हॉस्पिटल के मालिक के के सिंह ने दोनों फौजी जवानों को हॉस्पिटल के अंदर बंद कर पीटा जिससे फौजी जवानों को गंभीर चोटें भी आई।

एसएसपी ऑफिस के सामने संचालित हो रहा केके हॉस्पिटल अक्सर विवादों के घेरे में रहता है। कई बार तो अस्पताल सीज भी हो चुका है। अस्पताल सीज होने के साथ ही अस्पताल के मालिक के के सिंह व उनकी पत्नी जो डॉक्टर हैं, जेल भी जा चुकी है । लेकिन फिर भी पैसे और रसूख के दम पर मरीजों के जान के साथ खिलवाड़ करना बंद नहीं कर रहा हैं। आपको बताते चलें कि फौजी जवान अपने पिता का हॉस्पिटल में इलाज के दौरान लापरवाही के कारण जवानों के पिता की मौत हो गई।

जिससे जवानों ने अस्पताल पर लापरवाही के साथ हॉस्पिटल के स्टाफ ने हॉस्पिटल का दरवाजा बंद कर दोनों जवानों के साथ जवानों के भांजे की जमकर पिटाई की जिससे जवानों को चोटे आई जवानों का कहना है, कि वह अपना घर-परिवार छोड़कर देश की रक्षा के लिए सदैव तैयार रहते हैं। लेकिन देश के अंदर जवानों के साथ ऐसा बर्ताव हो रहा है इससे जवानों का मनोबल भी टूटता है। शासन प्रशासन को अस्पताल और डॉक्टर के ऊपर स त कार्रवाई करनी चाहिए ताकि अन्य को नुकसान ना उठाना पड़े।

=>