प्यार का दुश्मन बना भाई, प्रेमी बात करने पर बहन की गोली मारकर हत्या

बहन के प्रेमी की भी हत्या करना चाहता था रामेंद्र। प्रेमी के घर पर आने का कर रहा था इंतजार पुलिस ने चंद घंटों में किया खुलासा।
लखनऊ। माल क्षेत्र के गोपरामऊ गांव निवासी होमगार्ड ओमप्रकाश यादव की बेटी रेखा (22) की ऑनर किलिंग में हत्या कर दी गई। रेखा को बुधवार देर रात गोली मारी गई थी, जिसका शव घर के भीतर चारपाई पर पड़ा मिला था। एसएसपी कलानिधि नैथानी के मुताबिक हत्या के आरोप में रेखा के छोटे भाई रामेंद्र यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है।
एसएसपी ने बताया कि बुधवार देर रात हत्या की जानकारी मिली थी। पूछताछ में घरवालों ने बताया कि देर रात सभी एक रिश्तेदार के घर तिलक समारोह में गए थे। वापस लौटने पर उन्हें वारदात की जानकारी हुई। एसएसपी ने बताया कि गांव के ही एक युवक से रेखा के करीबी संबंध थे। देर रात में हत्या की जानकारी पाकर छानबीन की गई तो रेखा के भाई रामेंद्र की हरकतें संदिग्ध प्रतीत हुईं। एक टीम गठित कर उस पर निगरानी के बाद उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो उसने हत्या की बात कबूल की।
आरोपित ने बताया कि तीन साल से रेखा के गांव के ही एक युवक से करीबी संबंध थे। कई बार समझाने पर भी रेखा ने उसकी बात नहीं मानी। बुधवार रात में साजिश के तहत वह मां को रिश्तेदार के घर छोड़कर वापस आया तो रेखा फोन पर बात कर रही थी। रामेंद्र को देख रेखा ने फोन कपड़े में छिपा लिया। गुस्से में आकर रामेंद्र ने रेखा की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस आरोपित भाई को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है। रेखा के पिता ओमप्रकाश, सपा संरक्षक की बहू अपर्णा यादव के घर की सुरक्षा में तैनात हैं, जो ड्यूटी पर गए थे।
बहन के प्रेमी की भी हत्या करना चाहता था रामेंद्र
ऑनर किलिंग में बहन की हत्या करने के आरोपित रामेंद्र ने रेखा के प्रेमी की हत्या करने की साजिश भी रची थी। एसएसपी कलानिधि नैथानी के मुताबिक आरोपित ने पूछताछ में बताया कि वह रेखा के प्रेमी का घर पर इंतजार कर रहा था। रेखा की हत्या की खबर सुनकर अगर वह उसके दरवाजे पर आया होता तो वह उसकी भी हत्या कर देता। हालांकि, इससे पहले ही पुलिस ने उसे दबोच लिया।
एएसपी ग्र्रामीण विक्रांत वीर के मुताबिक गोपरामऊ गांव निवासी होमगार्ड ओमप्रकाश यादव ने बताया कि वह करीब तीन साल से सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा के घर की सुरक्षा में तैनात हैं। बुधवार शाम को वह ड्यूटी पर चले गए थे। इसके बाद उनकी पत्नी गीता उर्फ छाया, बेटा रामेंद्र, भाभी प्रकाशिनी और भतीजा कुलदीप मोहान रोड पर एक रिश्तेदार के यहां तिलक समारोह में शामिल होने गए थे। घरवालों ने वापस लौटने पर रेखा का शव देखकर उन्हें मामले की जानकारी दी थी।
अंदर से बंद था घर का मुख्य द्वार
घर के एक हिस्से में रेखा, जबकि दूसरे हिस्से में ओमप्रकाश के बड़े भाई हरि प्रसाद और उनकी मां सोई थीं। रात करीब 12 बजे परिवारीजन लौटे तो मुख्य द्वार अंदर से बंद था। परिवारीजन काफी देर तक दरवाजा खटखटाते रहे, कोई उत्तर नहीं मिला। काफी देर बाद ओमप्रकाश के बड़े भाई हरि प्रसाद ने घर का दरवाजा खोला। इसके बाद गीता और रामेंद्र उसी रास्ते से अपने घर में पहुंचे, जहां कमरे में चारपाई पर खून से लथपथ रेखा का शव पड़ा मिला।
एसएसपी ने किया निरीक्षण, शक होने पर गठित की टीम
घटना की जानकारी पाकर एसएसपी देर रात मौके पर पहुंचे। इसके बाद उन्होंने घरवालों से पूछताछ की। एसएसपी ने बताया कि रामेंद्र से बातचीत में उन्हें संदेह हुआ, जिसके बाद उन्होंने एएसपी ग्रामीण को उसपर नजर रखने के निर्देश दिए। शक के आधार पर जब रामेंद्र से पूछताछ की गई तो वह गुमराह करता रहा।  आरोपित ने बताया कि उसका फोन घर पर ही छूट गया था। हालांकि बाद में वह टूट गया और वारदात की बात स्वीकार कर ली।
परिवारीजन बोले, रेखा के पास नहीं था फोन, पुलिस ने किया बरामद
छानबीन में रेखा के घरवालों ने उसके पास मोबाइल फोन होने की बात से इंकार कर दिया। वहीं पुलिस ने जब शव का निरीक्षण किया तो रेखा के कपड़ों के भीतर से एक फोन बरामद हुआ। रामेंद्र जब रात में अकेले घर पहुंचा था तो फोन पर बात कर रही रेखा ने उसे देखते ही मोबाइल कपड़ों में छिपा लिया था। पुलिस ने कॉल डिटेल और आसपास की लोकेशन खंगाली तो पूरा मामला उजागर हो गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेखा के बाईं कनपटी में गोली मारे जाने की पुष्टि हुई है। गोली दाईं ओर से निकल गई थी।
शादी से कर रही थी इंकार
छानबीन में पता चला कि रेखा ने पांच साल पहले 10वीं की पढ़ाई पूरी की थी। इसके बाद उसने पढ़ाई छोड़ दिया था। घरवालों ने रेखा की शादी की कई जगह बात चलाई थी, लेकिन हर बार वह विवाह करने से इंकार कर देती थी। रामेंद्र ने बताया कि तीन साल से उसकी बहन गांव के ही युवक के संपर्क में थी। इस बात की जानकारी होने पर उसने रेखा को कई बार समझाया था।
=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com