सीतापुर में किशोरी को बंधक बना गैंगरेप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

सीतापुर। उत्तर प्रदेश में गैंगरेप की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। हवस के भूखे भेड़िए लगातार नाबालिग किशोरियों को अपनी हवस का शिकार बना रहे हैं। ताजा मामला सीतापुर जिले का है। यहां एक किशोरी ने तीन दरिंदों पर गैंगरेप का आरोप लगाया है। आरोप है कि तीन युवकों ने पीड़िता को बंधक बनाकर उसके साथ बारी-बारी से सामूहिक बलात्कार किया। पीड़िता का आरोप है कि दरिंदों ने उसे धमकी देते हुए कहा कि वह जब बुलाएँगे तो उसे आना होगा। अगर वह नहीं आई तो अंजाम बुरा होगा।

 
अपने साथ हुई घटना की सूचना पीड़िता ने घरवालों को बताई तो उनके पैरो तले जमीन खिसक गई। पीड़ित परिवार बेटी को लेकर थाने पहुंचे तो पुलिस ने अपना असली रूप दिखाना शुरू कर दिया। आरोप है कि पुलिस ने मुकदमा भी बड़ी मुश्किल से दर्ज तो कर लिया लेकिन एक आरोपी को गिरफ्तार कर केवल खाना पूर्ति की। आरोप है कि घटना की सूचना पुलिस को दी गई लेकिन पुलिस घंटों बाद मौके पर पहुंची और अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने में टालमटोल कर रही है। थाना प्रभारी का कहना है कि किशोरी से एक ही व्यक्ति ने दुष्कर्म किया है। जबकि पीड़िता ने 3 लोगों पर आरोप लगाया है।
जानकारी के अनुसार,संदना थाना क्षेत्र के एक गांव में घर से निकली किशोरी के साथ तीन लोगों गैंग रेप किया। विरोध करने वाली पीड़िता को दबंगों की ओर से धमकाया भी गया। पुलिस ने पीड़िता के पिता की तहरीर पर तीन लोगों के विरुद्ध दुष्कर्म सहित अन्य गंभीर धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया है। आरोपों की जांच करते हुए वादी पक्ष के बयान भी दर्ज हुए हैं। किशोरी का आरोप है कि वह घर से निकली थी। इसी दौरान उसे बंधक बना लिया गया। रामविलास और उसके दो साथियों ने विरोध कर रही पीड़िता की पिटाई की और धमकी देते हुए तीनों ने उससे गैंगरेप किया गया। बुधवार को रामविलास आदि के विरुद्ध धारा 376, 323, 504 और पाक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया गया।
=>