Main Sliderउत्तर प्रदेश

प्र‍ियंका गांधी: हमारा रोड शो मेनका के खिलाफ नहीं बल्की भाजपा के खिलाफ

सुल्तानपुर। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमितशाह की जनसभा के दिन ही शहर में विशाल रोड शो करके जिले की ही नहीं, बल्कि पूरे देश की सियासत को गर्म कर दिया है। 35 वर्षों में ऐसा दूसरी बार हुआ है जब गुरुवार को एक बार फिर दो गांधी परिवार के सदस्य प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से आमने-सामने आ गए। इसके साथ ही प्रियंका ने अपने परिवार के सदस्य के खिलाफ अब तक प्रचार नहीं करने के भ्रम को भी तोड़ दिया। हालांकि उनसे जब मीडिया ने सवाल पूछा कि क्या वह मेनका गांधी के खिलाफ रोड शो करने आई हैं, तो इसका बेहद चतुराई से जवाब दिया। प्रियंका ने कहा कि वह मेनका के खिलाफ नहीं, बल्कि भाजपा के खिलाफ और कांग्रेस के पक्ष में चुनाव प्रचार करने आई हैं।

उन्होंने कहा कि वह डॉ. संजय स‍िंंह के लिए यहां रोड शो कर रही हैं। इस दौरान प्रियंका ने डॉ. स‍िंंह को यह कहकर हौसला बढ़ाया कि मेरी आंतरिक रिपोर्ट में आप यहां से जीत रहे हैं। इस दौरान उन्होंने एक बच्चे को दुलारा भी। रोड शो समाप्त करने के बाद वह सीधे अपनी गाड़ी में बैठकर अगले गंतव्य को रवाना हो गईं, लेकिन जाने से पहले उन्होंने राजनीति के गलियारे में भारी हलचल पैदा कर दी। डॉ. स‍िंंह ने कहा कि प्रियंका के आने से उनका हौसला बढ़ा है।

कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमितशाह की जनसभा समाप्त होने के कुछ देर बाद ही सुलतानपुर पहुंच गई। उन्होंने गुरुवार को शाम करीब साढ़े पांच बजे अमहट हवाई पट्टी पर लैंड किया। कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. संजय स‍िंह व उनकी पत्नी डॉ. अमीता स‍िंंह, साबित्री बाई फुले व अन्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनकी जोरदार आगवानी की।

हवाई पट्टी से बाहर आते ही राहुल-प्रियंका व डॉ. संजय स‍िंंह ज‍िंंदाबाद के नारे लगने लगे। अपने भारी-भरकम काफिले के साथ वह सड़क मार्ग से दरियापुर पहुंची। वहां उनके रोड शो के लिए दुल्हन की तरह सजा व फूल-मालाओं से आच्छादित रथ तैयार था। कारपोरेशन बैंक से रोड के लिए प्रियंका जैसे ही रथ पर चढ़ी, साथ में उमड़े भारी जनसैलाब से वह घिर गई। रथ में प्रियंका के साथ डॉ. संजय स‍िंंह, अमीता स‍िंंह उनकी बेटी अकांक्षा स‍िंंह व साबित्री फुले मौजूद रहे। जैसे-जैसे उनका रथ मुख्यालय की ओर बढऩे लगा, पूरे शहर की रफ्तार भी थमती गई।

रास्ते भर छतों से बरसे फूल

प्रियंका की एक झलक देखने को बेताब भीड़ अपने छतों व छज्जों एवं अन्य ऊंचाई वाले स्थानों से पूरे रास्ते फूलों की बारिश होती करती रही। प्रियंका ने लोगों के इस प्यार का जवाब अपनी मधुर मंद मुस्कान व हाथ हिलाकर अभिवादन से देती रहीं। कई बार उन्होंने भी जनता के ऊपर फूल बरसाए। यह काफिला जमाल गेट, गुरुद्वारा, बाधमंडी चौराहा, गांधीनगर स्कूल, राहुल चौराहा, नार्मल चौराहा, लाल डिग्गी, डाकखाना चौराहा, गल्लामंडी चौराह, अस्पताल तिराहा होते हुए सब्जी मंडी होते मालगोदाम तिराहे पर समाप्त हुआ।

जब प्रियंका को लगा मोबाइल

दरियापुर के कारपोरेशन बैंक से जैसे ही प्रियंका ने रोड शो शुरू किया। लोग उन पर फूल-मलाएं बरसाने लगे। इस दौरान किसी कार्यकर्ता ने फूलों की माला प्रियंका की ओर तेजी से उछाला। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार इस दौरान उसका मोबाइल भी हाथ से छूट गया, जो प्रियंका को जा लगा। एक बार तो एसपीजी वाले भी हैरान रह गए और अफरातफरी जैसा माहौल हुआ। हालांकि बाद में पता चला कि वह कार्यकर्ता का मोबाइल था, जो गलती से छूटा था। एसपीजी ने मोबाइल को अपने पास रख लिया। करीब तीन किलोमीटर उनका रोड शो दरियापुर से चलकर माल गोदाम तिराहे पर समाप्त हुआ।

वरुण व मेनका भी फंसे

अमित शाह की जनसभा से निकलकर अपने आवास को जा रहे वरुण व प्रियंका गांधी का काफिला भी प्रियंका के रोड शो में फंस गया। देर तक ट्रैफिक पुलिस मशक्कत करती रही, लेकिन कोई टस से मस नहीं हुआ। इस दौरान 50 हजार से अधिक लोगों की भीड़ मौजूद रही।

loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com