अगर आपने भी देखा है काई सपना तो इस तरह करें उपाय और हासिल करें अपनी मंजिल

अपनी जिंदगी से मायूस होकर शाम की तरह ढलते मत रहो, जिंदगी भोर है सूरज की तरह रोज एक नए सवेरे के साथ निकलते रहना सीखो। सूरज रोज शाम को गिरता है लेकिन वो हार नहीं मानता और फिर से संभलता है और निकलता है। आप भी सूरज की तरह गिर कर संभलना सीखो, बस आपके सपने साकार और सफलता निश्चित है।

मेरे पास आपके लिए एक आसान सा सवाल है, क्या आपको यकीन है की एक दिन आपके सारे सपने सच होंगे और आप वो सब कुछ पा लेंगे जो आप पाना चाहते है अगर हाँ तो एक पल के लिए अपनी आँखें बंद करें और देखें कितनी खुबसुरत है वो जिंदगी, कितना खुबसूरत है किसी सपने का सच होना, आईये अब अपनी अभी की जिंदगी में लौट आओ और शुरू करो छोटे-छोटे कदम उठाना क्योंकि यही छोटे-छोटे कदम आपको आपकी मंजिल तक ले जायेंगे।

सपना कितना भी बड़ा हो उसकी शुरूआत हमेशा एक छोटे कदम से होती है आप जहाँ है, आपके पास जो भी है और जितना भी है उसी से शुरू करो क्योंकि कुछ शुरू करने के लिए आपके पास जितना भी है बहुत है।

बहुत से लोग अपनी परिस्थितियों से संतुष्ट हो जाते है उन्हें लगता है की मैं जो कुछ भी हूँ और मुझे जितना मिला है बहुत है क्योंकि उन्हें अपनी हालात की आदत हो गई है और ये हालात उन्हें आगे नहीं बढ़ने देती है और यही आदत उन्हें बड़ा नहीं बनने देती है।

जो रोज सुबह उठते है तैयार होते है और फिर वही नौकरी करने चल पड़ते है जो उन्हें पसंद नहीं है वही नौकरी जो रोज उन्हें धीरे-धीरे खा रही है। यदि आपने खुद को सीमाओं में बाँध लिया है, अगर आपने अपने सपनों को मार दिया है तो आप रोज मर रहे है और रोज आत्महत्या कर रहे है।

उठें और कोशिश करें और डट कर पीछा करो अपने सपनों का, सही वक्त और सही मौके का इंतजार करना बंद करें क्योंकि सही वक्त और सही मौका कभी नहीं आता है बल्कि उन्हें सही बनाना पड़ता है इसलिए आज और अभी शुरू करें क्योंकि शुरू करने के लिए हर वक्त और हर परिस्थिति सही है। आप कभी भी शुरू कर सकते है। आप एक-एक कदम आगे बढ़ें बाकि सब अपने आप होने लगेगा।

क्या आपको पता है की आपके सपने का सबसे बड़ा दुश्मन कौन है? वो कौन है जो आपको अपने सपने पुरे नहीं करने देता है? वो आप खुद है आप खुद से बहाना बना लेते है, आप खुद से झूठ बोलते है की अभी आप तैयार नहीं है। कौन कहता है की सपने पुरे करने के लिए, बड़ा बनने के लिए, शुरूआत करने के लिए परफेक्ट होने की जरूरत है। ये जरूरी नहीं है।

अब तक आपको आगे बढ़ने के लिए एक कदम उठा लेना चाहिए था, किसी कोर्स में एडमिशन ले लेना चाहिए था, कोई बिजनेस शुरू कर लेना चाहिए था, कोई खतरा उठा लेना चाहिए था कितना कुछ था जो आपको कर लेना चाहिए था लेकिन आपने नहीं किया, क्यों क्योंकि आप असफल होने से डरते है जबकि आपको पता है की डर के आगे हमेशा जीत होती है।

आप गलती करने से डरते है, आप शुरू करने से डरते है क्योंकि आपको लगता है की आप तैयार नहीं है लेकिन यकीन करो आपको तैयार होने की जरूरत नहीं है। आप जो पाना चाहते है, आप जो बनना चाहते है, आप जो करना चाहते है या आप जहाँ पहुँचना चाहते है उसके लिए आपको पत्थर धोने की जरूरत नहीं है।

अगर जिंदगी कभी आपको नीचे गिरा दें तो हिम्मत न हारें, हौसला रखें और ऊपर आसमान की तरह देखें क्योंकि ऊपर वही उठता है जो ऊपर देखता है। अगर आपका सपना आपके लिए जरूरी है तो इसके लिए लड़ो, अपनी पूरी ताकत लगा दें।

क्योंकि सपना तब पूरा होता है जब दिन और रात का होश ना रहें। आपका सपना तभी पूरा हो सकता है जब आपको अपने सपने के बिना जिंदगी अधूरी, बेकार और घटिया लगे। अगर आप चाहते है की आने वाला दिन आपका हो तो ना बोलना बंद करें और हाँ कहना शुरू कर दें।

आज ही खुद से वादा करो की आप दुनिया को छोड़ने से पहले कोई ऐसा सपना छोड़ के नहीं जायेंगे जो आपने पूरा नहीं किया हो, कोई ऐसा मौका पीछे छोड़ के नहीं जायेंगे जिसका आपने फायदा न उठाया हो। दुनिया छोड़ने से पहले आप वो सब कुछ पा लेंगे जो आप पा सकते थे।

आप भी एक दिन हीरो बन सकते है, आप भी एक दिन चैंपियन बन सकते है बस कोशिश करते रहें और हार मत मानो क्योंकि जब तक आप हार नहीं मानते तब तक कोई आपको हरा नहीं पाएगा और सपना तभी सच होता है जब वो सपना साँस लेने जितना जरूरी हो जाता है।

समय की इज्जत करना सीखो
जिस दिन आपका सपना आपके लिए साँस लेने जितना जरूरी हो गया, जिस दिन आप अपने सपने के लिए कुछ भी कर गुजरने के लिए तैयार हो गए उस दिन दुनिया की कोई ताकत कोई परेशानी, कोई समस्या आपको आपकी मंजिल तक पहुँचने से या आपको अपना सपना पूरा करने से कोई भी रोक नहीं पाएगा।

=>