लखनऊ

बड़े मंगल से पूर्व हनुमान मंदिरों का महापौर ने दौरा कर व्यवस्थाओं का लिया जायजा

लखनऊ। जेठ का महीना 19 मई से शुरू हो रहा है और पहला बड़ा मंगल 21 को पड रहा है। नवाबी शहर के लिए जेठ के बड़े मंगल महापर्व जैसे होते हैं। हजारों की संख्या में श्रद्धालु मंदिरों में दर्शन और पूजन के लिए जुटते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए महापौर संयुक्ता भाटिया ने शुक्रवार को राजधानी के कुछ प्रमुख मंदिरों का दौरा कर वहां चल रहीं तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान महापौर ने मंदिरों के आस-पास सफाई, पेयजल एवं मार्ग प्रकाश व्यवस्था, मंदिर मार्ग तक जाने वाले सम्पर्क मार्गों की स्थिति का जायजा लिया। महापौर ने हजरतगंज स्थित दक्षिणमुखी हनुमान मन्दिर, गोमती बंधे स्थित हनुमान सेतु मन्दिर, अलीगंज स्थित नये एवं पुराने हनुमान मन्दिर, छाछी कुआं स्थित हनुमान मंदिर का दौरा किया।

हजरतगंज स्थित दक्षिणमुखी मंदिर के पुजारी ने महापौर से बताया कि बड़ा मंगल के चलते बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने के चलते थोड़ी बहुत अतिक्रमण की समस्या बनती है। महापौर ने जोनल अधिकारी नरेंद्र देव वर्मा को समस्या के समाधान हेतु आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कार्यवाही करने को कहा। इसके पश्चात महापौर गोमती बंधे स्थित हनुमान सेतु पहुंची। मन्दिर के व्यवस्थापक दिवाकर त्रिपाठी ने बताया कि बड़े मंगल को दृष्टिगत रखते हुए मंदिर में सभी व्यवस्थाओं को चाक चैबन्द किया जा रहा है। महापौर ने अलीगंज स्थित नये एवं पुराने हनुमान मन्दिर पहुँचकर व्यवस्थापकों से सुविधाओं एवं सफाई, पेयजल, मार्गप्रकाश के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा की। नये हनुमान मंदिर की समिति के अनिल तिवारी ने बताया की मंदिर परिसर के सामने कूड़े का ढेर लगा रहता है जिससे आने वाली दुर्गंध से श्रद्धालुओं को बहुत परेशानी होती है।

महापौर ने जोनल अधिकारी राजेश गुप्ता से कूड़े का ढेर तत्काल हटाने के साथ ही मंदिर परिसर के चारों ओर सफाई सम्बन्धी समस्यायों का समाधान करने के निर्देश दिया। पुराने हनुमान मन्दिर के पुजारी महंत गोपालदास ने बताया कि मंदिर के सामने बड़ी मात्रा में मलवे का ढेर इकट्ठा होने के कारण श्रद्धालुओं को आने जाने एवं अपने वाहन खड़ा करने में दिक्कत होगी। साथ ही जल निकासी हेतु नालियों को भी साफ कराया जाये।

महापौर ने जोनल अधिकारी राजेश गुप्ता से सभी समस्याओं का समाधान का निर्देश दिया। अंत में महापौर छाछी कुआं स्थित हनुमान मंदिर पहुँची। पुजारी अंजनि दास ने सम्पर्क मार्गों के क्षतिग्रस्त होने एवं मार्गप्रकाश व्यवस्था दुरूस्त न होने की बात कही। महापौर ने अधिशासी अभियन्ता अमरनाथ से उखड़ी हुई सड़कों को पैचवर्क द्वारा दुरुस्त करने एवं मार्गप्रकाश के अधिकारियों से मार्ग प्रकाश व्यवस्था ठीक करने के निर्देश दिये।

loading...
Loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com