प्रेगनेंसी टेस्ट में क्या सेक्स के 12 दिन बाद ही किया जा सकता है?

अगर आप माँ बनने की प्लानिंग कर रही हैं तो ज़ाहिर सी बात है इस खुशबरी की पक्की जानकारी हासिल करने के लिए आप बेसब्र हो रही होंगी। लेकिन आज के इस आधुनिक दौर में इस बात की पुष्टि करना कि आप गर्भवती हैं या नहीं घर बैठे ही की जा सकती है। बाज़ारों में मिलने वाले प्रेगनेंसी टेस्ट किट के इस्तेमाल से आप आसानी से अपने गर्भवती होने का पता लगा सकती हैं। लेकिन फिर भी प्रेगनेंसी टेस्ट करने से पहले कुछ बातों को ध्यान में रखना बेहद ज़रूरी होता है। सबसे पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि आपको कब और किस समय जांच करनी चाहिए जिससे आपको एकदम सही परिणाम मिले और आप उस पर भरोसा कर सकें।

कैसे काम करते हैं प्रेगनेंसी टेस्ट किट

पीरियड्स मिस होने के चार पांच दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करने का सबसे सही समय माना जाता है लेकिन अगर आपके पीरियड्स अनियमित हैं तो इस अवस्था में ये थोड़ा मुश्किल हो सकता है। संभोग के बाद जब अंडे के साथ स्पर्म का मेल होता है तब फर्टीलाइज्ड अंडे का प्रत्यारोपण छठवें दिन या उसके बाद होता है इस समय HCG नामक हार्मोन उत्पन्न होते हैं। प्रेगनेंसी टेस्ट किट इसी हार्मोन की उपस्थिति के आधार पर इस बात की पुष्टि करता है की आप गर्भवती हैं या नहीं।

प्रेगनेंसी टेस्ट का सही समय

प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए कम से कम आपको अपने पीरियड्स मिस होने के एक दिन बाद तक इंतज़ार करना चाहिए लेकिन इस बात की गारंटी नहीं होती कि इस समय भी आपको सही परिणाम ही मिले। अगर आप बहुत जल्दी टेस्ट करती हैं तो प्रेगनेंसी टेस्ट किट आपके गर्भवती होने पर भी सही परिणाम नहीं दे पाएगा क्योंकि आपके HCG का सही स्तर इस समय कम होगा। वहीं दूसरी ओर कई बार HCG का स्तर पीरियड्स के पहले भी बढ़ जाता है जिससे यदि आप अपने पीरियड्स मिस होने के पहले दिन ही प्रेगनेंसी टेस्ट कर लेती हैं तो आपको सकारात्मक परिणाम मिल सकता है यह टेस्ट उस स्थिति में नेगेटिव रिजल्ट देता है जब आपका एचसीजी स्तर कम हो या न हो। आप प्रेगनेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल अपने पीरियड्स मिस होने के 7 या 8 दिन बाद ही करें।

जब पीरियड्स मिस होने पर भी आपको नकारत्मक परिणाम मिले

मासिक धर्म न आने के कई कारण हो सकते हैं। अगर आप लम्बे समय से संभोग कर रही हैं तो इस बात को नकारा नहीं जा सकता है कि आप गर्भवती हैं। लेकिन यदि पीरियड्स मिस होने के बावजूद आपको प्रेगनेंसी किट द्वारा जांच करने पर नकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं तो हो सकता है कि वह किट सही न हो इसलिए जब भी आप यह किट बाज़ार से खरीदें इसकी एक्सपायरी डेट ज़रूर जांच लें। ऐसी स्थिति में इस तरह के किट पर पूरी तरह भरोसा नहीं किया जा सकता है इसलिए जब भी आप इसका इस्तेमाल करें और आपको सकारत्मक परिणाम मिले तो आप फ़ौरन अपने चिकित्सक से परामर्श लें। यदि पीरियड्स मिस होने पर भी आपको सकारात्मक परिणाम न मिले तो कुछ दिन और इंतज़ार करें और दोबारा जांच करें। कई बार किट पर जो दो रेखायें होती हैं वह बहुत ही हल्की होती है, ऐसे में आप कुछ समय बाद फिर से जाँच कर लें। यदि टेस्ट के पहले आपने ज़्यादा पानी पी लिया है तो इससे आपका पेशाब बहुत ही पतला हो जाएगा जिससे आपको गलत परिणाम मिल सकता है।

सेक्स के बाद कितनी जल्दी प्रेगनेंसी टेस्ट कर सकते हैं?

यह आपके शरीर में HCG की मात्रा पर निर्भर करता है कि संभोग के बाद कितनी जल्दी आप गर्भवती होती है या नहीं इसकी जांच कर सकती है। जब HCG की मात्रा एक स्तर तक पहुंच जाती है तब उस पर इस्तेमाल करने वाले प्रेगनेंसी किट उसकी उपस्थिति का पता लगा पाते हैं हालांकि पैथोलॉजी में जाकर अपने खून की जांच से आप इस बात का पता और भी जल्दी लगा सकती हैं। लेकिन उसके लिए भी आपको अपने पीरियड्स मिस होने का इंतज़ार करना पड़ेगा। वहीं दूसरी ओर यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस ब्रांड का किट इस्तेमाल कर रही हैं क्योंकि आजकल बाज़ारों में अलग अलग ब्रांड के किट पाए जाते हैं इसलिए हर किसी पर पूरी तरह से भरोसा नहीं किया जा सकता है।

=>