कानून-व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त बनाने को लेकर मंथन

 लखनऊ। पुलिस महानिदेश ओपी सिंह ने नवनिर्मित पुलिस मुख्यालय भवन, गोमतीनगर में प्रदेश के समस्त वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, प्रभारी जनपद सहित अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ
बैठक की। बैठक के चार सत्रों में पूर्व पुलिस महानिदेशक व अध्यक्ष, उप्र. एससी/एसटी आयोग बृज लाल, राज्यमंत्री  मोहसिन रजा, अध्यक्ष, पुलिस सुधार आयोग/पूर्व पुलिस महानिदेशक, सुलखान सिंह,  सम्पादक,हिन्दुस्तान टाइम्स सुनीता ऐरन उपस्थित रहीं। इस बैठक में उक्त लोगों ने कानून-व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त बनाने को लेेकर चर्चा की गई।
पूर्व डीजीपी बृजलाल ने अपने सम्बोधन में बताया कि सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के प्राविधान के अनुपालन में विशेष ध्यान दिया जाये। घटना के मौके पर तत्काल पहुंच कर त्वरित कार्यवाही की जाये तथा संवेदनशीलता बरती जाये। वहीं समय-समय पर शासन द्वारा दिये गये शासनादेशों का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाये। मोहसिन रजा ने सरकार की योजनाओं के में अवगत कराया।  वहीं सुनीता ऐरन ने कहा कि त्वरित शिकायत दर्ज होने के साथ ही पीडि़ता को परेशान नहीं किया जाना चाहिए। पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह ने बताया कि पुलिस विभाग के लिये परसेप्शन बहुत महत्वपूर्ण है। समय से एफआईआर पंजीकृत न करने से पुलिस की छवि पर प्रतिकूल असर पड़ता है।
=>