प्रॉपर्टी डीलर मोहित के अपहरण के मामले में अतीक अहमद और पुत्र के खिलाफ CBI में केस दर्ज

लखनऊ। माफिया से नेता बने अतीक अहमद के खिलाफ सीबीआई ने केस दर्ज किया है। लंबे समय से अपराध जगत में सक्रिय अतीक अहमद ने लखनऊ से प्रॉपर्टी डीलर मोहित अग्रवाल को अगवा कराने के बाद देवरिया जेल में प्रताडि़त किया था।

देवरिया के बाद बरेली और फिर प्रयागराज के नैनी सेंट्रल जेल की हवा खाने के बाद अतीक अहमद पर सरकार का शिकंजा कस गया है। अतीक अहमद फिलहाल गुजरात के अहमदाबाद जेल में बंद है। सीबीआई ने आज अतीक अहमद के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। सीबीआई ने अतीक अहमद के साथ ही अतीक अहमद के पुत्र उमर, फारुख, जकी अहमद, जफरउल्लाह, गुलाम सरवर तथा 10-12 अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है।

सीबीआई ने दिसंबर 2018 में मोहित जायसवाल के अपहरण और हमले के आरोप में फूलपुर से समाजवादी पार्टी से सांसद रहे अतीक अहमद और 17 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जायसवाल को लखनऊ से अगवा किया गया था और देवरिया जेल ले जाया गया था जहां जेल में बंद डॉन अतीक अहमद और उनके सहयोगियों ने मोहित के साथ मारपीट करने के साथ ही उसकी गाड़ी पर भी कब्जा कर लिया था। इस मामले में कृष्णानगर कोतवाली में एफआइआर दर्ज थी। इस प्रकरण में पुलिस अतीक समेत आठ लोगों के खिलाफ चार्जशीट फ़ाइल कर चुकी है।

इसके साथ ही मोहित को इन लोगों ने काम भी बंद करने पर मजबूर किया था। अतीक अहमद ने अपराध के बाद राजनीति में कदम रखा और समाजवादी पार्टी के टिकट पर 2014 का चुनाव भी लड़ा था। इससे पहले 2004 से 2009 तक अतीक अहमद 14वीं लोकसभा का सदस्य भी था।

=>