लखनऊ

नागरम में नहर में गिरी बरातियों से भरी पिकअप गाड़ी, 7 बच्चे लापता

 

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के ग्रामीण इलाके नगराम के पटवा खेड़ा गांव के बाहर खचाखच सवारियों से भरा पिकप डाला अनियंत्रित होकर इंदिरा नहर में गिर गया। वाहन में 29 लोग सवार थे ये सभी नगराम से शादी समारोह से लौट रहे थे। हादसे में सात बच्चे अब भी लापता हैं। पिकप सवार सभी लोग बाराबंकी के रहने वाले थे। सूचना पर पुलिस के अलावा एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की टीमें अत्याधुनिक उपकरणों से रेस्क्यू में लगी हैं।

सुबह चार बजे से एसडीआरएफ और स्थानीय गोताखोरों की मदद से सर्च ऑपरेशन चल रहा है, लेकिन बच्चों का पता नहीं लग पाया। घटना स्थाल पर डीएम कौशल राज और एसएसपी कलानिधि नैथानी भी मौजूद हैं। उनकी ही निगरानी में सर्च ऑपरेशन चल रहा है। बच्चों के नहीं मिलने से घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है।एसएसपी कलानिधि नैथानी के मुताबिक बाराबंकी के लोनी कटरा सराय पांडेय निवासी फतेहबहादुर गुरुवार तड़के परिवारीजन और रिश्तेदारों के साथ पिकप डाला से साढु सूरज पाल निवासी पटवाखेड़ा नगराम के यहां आयोजित समारोह में शामिल होकर लौट रहे थे।

यह है मामला 
मामला पटवा खेड़ा नगराम का है, यहां पांडेय सराए बराबंकी से फते बहादुर अपने साडू के बेटे की शादी समारोह में शामिल होने आए थे। यहां से बुधवार रात दो बजे करीब लगभग 29 लोग पिकअप में सवार होकर वापस जा रहे थे। बताया जा रहा है कि नहर के पास एक पतली पगडंडी पर पिकअप फंस गया। जिस पर ड्राईवर ने बायीं ओर मोड़ना चाहा, ल‍ेकिन जगह न होने की वजह से पिकअप इंदिरा नहर में जा गिरा। हादसा से मौके पर चीख पुकार मच गई। लोगों ने किसी तरह से एक दूसरे को खींचकर नहर से बाहर निकाला। हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासन हरकत में आया। देर रात  क्रेन की मदद से पिकअप को बाहर निकाला गया। जिसके बाद सर्च ऑपरेशन शुरू हुआ।

तैरकर बाहर आए कई लोग
नहर से कई लोग तैरकर बाहर आ गए। वहीं कुछ लोगों ने बच्चों को भी बाहर निकाला, लेकिन कई परिजनों को उनके बच्चे नहीं मिल पाए। रात भर घरवाले बच्चों की तलाश में बदहवास रहे। बच्चों के डूब जाने के डर से परिजनों में रोना-पीटना मच गया। वहीं सुबह चार बजे करीब एनडीआरएफ की टीम ने सर्च अभियान शुरू किया। वहीं स्थानीय गोताखोरों की भी मदद ली गई।

लापता बच्चों के नाम 
सात लापता हुए बच्चों में सचिन (6),  सजन  (4), सनी (5), सौरभ (6), मानसी  (4), मानसी (6), अमन (10) शामिल हैं। बताया जा रहा है कि ड्रार्इवर नशे में था। हादसे के बाद ग्रामीणों ने उसे जमकर पीटा जिसके बाद से ड्राईवर मौके से फरार है। नहर में बच्चों को खोजने के लिए एसडीआरएफ के 15 जवान और 4 गोताखोरों को लगाया गया है।

मौके पर पहुंचे अधिकारी
एसएसपी कलानिधि नैथानी भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने लोगों से पूछताछ की। वहीं उनकी देखरेख में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। वहीं आइजी रेंज लखनऊ एसके भगत ने कहा कि अब तक 22 लोगों को बचाया जा चुका है, सात बच्चे अभी भी मिसिंग है। बचाव अभियान जारी है। मौके पर जिलाधिकारी कौशल राज भी पहुंचे और उन्होने ग्रामीणों से बातचीत की।

loading...
=>

Related Articles