समीक्षा अधिकारी के अपहरण की सूचना से हड़कंप 

लखनऊ। सचिवालय के पास से समीक्षा अधिकारी के अपहरण की सूचना से हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सीओ हजरतगंज फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और जांच-पड़ताल में जुट गये। हालांकि थोड़ी ही देर में पता चला कि अपहरण की सूचना फर्जी थी। सीओ हजरतगंज ने बताया कि वीरेन्द्र कुमार समीक्षा अधिकारी है। वह करीब शाम 7 बजे लोकभवन के पास रानू नाम के व्यक्ति से बात कर रहे थे। इसी दौरान उनके बेटे हिमांशु ने फोन किया तो वीरेन्द्र ने बताया कि वह रानू से बात कर रहे हैं। बात करते ही फोन कट गया। कई बार फोन करने पर जब फोन रिसीब नहीं हुआ तो बेटे ने 100 डायल कर अपहरण की सूचना दी। बेटे हिमांशु ने बताया कि उसे पता था कि रानू व पिता में पैसों के लेेनदेन का विवाद चल रहा है। फोन न उठने पर वह घबरा गया और पुलिस को अपहरण होने की सूचना दे दी।
=>