यूपी में योगी सरकार भव्यता से मनाएगी महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती

लखनऊ,। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस वर्ष 02 अक्टूबर को महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती है, जिसका देशभर में वृहद स्तर पर आयोजन किया जाएगा। प्रदेश सरकार भी उत्तर प्रदेश में गांधी जी की 150वीं जयन्ती पूरी भव्यता से मनाएगी, ऐसे में इसकी कार्ययोजना अभी से तैयार कर ली जाए। उन्होंने कहा कि गांधी जयन्ती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रमों की थीम ‘स्वदेशी, स्वच्छता, स्वरोजगार तथा स्वावलम्बन’ पर केन्द्रित की जाए। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम राज्य, मण्डल तथा जनपद स्तर पर आयोजित किए जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने यह बातें हाल ही में आयोजित खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग की बैठक में कहीं। उन्होंने कहा कि गांधी जयन्ती के अवसर पर वर्ष पर्यन्त चलने वाले आयोजनों को इस तरह से प्रस्तुत किया जाए, जिससे लोगों में स्वदेशी और स्वावलम्बन की भावना जाग्रत हो और वे स्वरोजगार के लिए भी प्रेरित हों। उन्होंने खादी में आधुनिक तकनीक के प्रयोग पर बल देते हुए कहा कि इससे अच्छे उत्पाद बनाने में मदद मिलेगी और लोग उन्हें हाथोंहाथ लेंगे। उन्होंने कहा कि हर जनपद के अपने विशिष्ट खादी ग्रामोद्योग के उत्पादों को बढ़ावा दिया जाए और इन्हें कार्यक्रमों के दौरान विशिष्ट अतिथियों को भेंट किया जाए, जिससे इनकी लोकप्रियता बढ़ेगी।
खादी में सोलर चरखों के प्रयोग को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी 02 अक्टूबर को एक विस्तृत कार्यक्रम ‘ईवेन्ट’ के रूप में आयोजित कर उसमें 1,000 लोगों को सोलर चरखे मुहैया कराए जाएं ताकि 1,000 परिवारों को रोजगार से जोड़ा जा सके। उन्होंने खादी को लोकप्रिय बनाने के उद्देश्य से इसे एक ब्राण्ड के रूप में स्थापित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए खादी उत्पादों की गुणवत्ता और उसके मूल्य पर विशेष ध्यान दिया जाए ताकि वे बाजार की प्रतिस्पर्धा में बने रहें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि खादी ग्रामोद्योग में स्वरोजगार की अनेक सम्भावनाएं मौजूद हैं, जिन्हें खादी विभाग को चिन्हांकित कर बढ़ावा देना होगा। इससे बड़े पैमाने पर रोजगार सृजित हो सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के स्कूलों में पढ़ने वाले लगभग 1.74 करोड़ छात्रों को हर वर्ष 02 बार स्कूल यूनीफॉर्म उपलब्ध करानी होती है। अगर खादी विभाग इसकी आपूर्ति कर सके तो विभाग का कायाकल्प तो होगा ही, साथ ही स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार भी मिल सकेगा।

=>