Main Sliderराष्ट्रीय

दिल्ली में भी बरसे बदरा, लोगों ने ली राहत की सांस

नई दिल्ली। दक्षिण पश्चिम मानसून आगे बढ़ते हुए देश के उत्तरी और मध्य हिस्सों में शुक्रवार को पहुंच गया। राष्ट्रीय राजधानी समेत देश के कई राज्यों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मानसून ने छह दिन विंलब से ही सही लेकिन अब दस्तक दे दी है। शुक्रवार शाम तक शहर में 25 मिमी बारिश दर्ज की गई। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के वरिष्ठ वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि विभाग ने सुबह आठ बजकर 30 मिनट पर मानसून के दस्तक देने की घोषणा कर दी। उन्होंने बताया कि यह मानसून पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पूर्वी हरियाणा और दिल्ली एनसीआर क्षेत्र तक फैला है।

शहर के लिए आधिकारिक रूप से मौसम संबंधी आंकड़ों की गणना करने वाली सफदरजंग वेधशाला के अधिकारियों ने बताया कि शाम पांच बजकर 30 मिनट तक 25 मिमी बारिश दर्ज हुई और आर्द्रता स्तर 100 फीसदी तक चला गया। भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि कोंकण, गोवा, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, उप हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, ओडिशा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, विदर्भ, तटीय एवं उत्तर आंतरिक कर्नाटक, केरल, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में बारिश या गरज के साथ बारिश हुई।

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राजस्थान के हिस्सों में भारी बारिश हुई और भुंगरा में अधिकतम बारिश 13 सेमी दर्ज की गई। इसके बाद अजमेर के नयानगर में 12 सेमी बारिश हुई। मौसम विभाग ने बताया कि हरियाणा और पंजाब के कई स्थानों पर मानसून से पहले वाली बारिश हुई। चंडीगढ़ में 0.6 मिमी बारिश दर्ज की गई। हरियाणा और पंजाब सहित संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ का तापमान पांच डिग्री सेल्यिस तक नीचे चला गया। हालांकि बारिश के बावजूद दोनों राज्यों में काफी उमसभरा मौसम रहा। पंजाब और हरियाणा में मौसम वैज्ञानिकों ने हल्की से मध्य बारिश की संभावना जाहिर की है।

उत्तर प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई जबकि दूरदराज के क्षेत्रों में भारी बारिश हुई। दक्षिणी पश्चिम मानसून राज्य के पश्चिमी हिस्से में सामान्य बना हुआ है। राज्य में सबसे ज्यादा बारिश आगरा में हुई। वाराणसी और इलाहाबाद खंड में दिन में तापमान बढ़ गया, लेकिन राज्य के बाकी हिस्सों में तापमान में कुछ ज्यादा बदलाव नहीं हुआ जबकि राज्य में सबसे ज्यादा तापमान 41.1 डिग्री सेल्सियस फतेहगढ़ में दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने राज्य के कुछ हिस्सों में बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने जबकि दूरदराज हिस्सों में भारी बारिश की संभावना जाहिर की है।

मौसम विभाग ने बताया कि हिमाचल प्रदेश में शुक्रवार को अच्छी बारिश हुई क्योंकि मानसून पूरे राज्य में दस्तक दे चुका है। शिमला मौसम केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि राज्य के कुछ हिस्सों में मानसून दो जुलाई को पहुंच गया था और बाकी हिस्सों में शुक्रवार को आया। धर्मशाला में सबसे ज्यादा 58 मिमी बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग ने मैदानी, निचले एवं मध्य पहाड़ी क्षेत्रों में छह जुलाई से आठ जुलाई के बीच भारी बारिश को लेकर ‘येलो चेतावनी’ जाहिर की है।

मौसम विभाग ने उत्तराखंड, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में अगले 24 घंटों में बारिश की संभावना जाहिर की है। मौसम विभाग ने बताया कि राजस्थान और पंजाब के दूरदराज इलाकों में तेज हवा, बिजली चमकने के साथ बारिश हो सकती है।

loading...
=>

Related Articles