बैंकों की तरफ से लोगों को मिली बड़ी सुविधा, किसी भी बैंक शाखा से कर सकेंगे ये काम

आपका खाता चाहे किसी भी बैंक में हो, आप किसी भी बैंक की नजदीकी शाखा में जाकर लेनदेन कर सकेंगे। बजट में ऐसा प्रावधान किया गया है। वित्त मंत्री ने किसी भी सरकारी बैंक के जरिये खाते में राशि जमा करने की सुविधा जैसी घोषणाएं की हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि इससे बैंकिंग सेवाएं बेहद आसान हो जाएगी। वर्तमान में आप को अपने बैंक की ही किसी शाखा में ही बैंकिंग सेवाएं मिलती हैं।

घर बैठे ही कर्ज की सुविधा मिलेगी
सभी सरकारी बैंक दूसरे बैंक के उपभोक्ताओं को जमा-निकासी समेत वह सभी सुविधा मुहैया कराएंगे जो उन्हें अपने बैंक और शाखा में मिलती है। ऐसी स्थिति में एक सरकारी बैंक का उपभोक्ता किसी दूसरे सरकारी बैंक में जाकर चेक से राशि निकाल सकता है और नकद या चेक से राशि भी जमा कर सकता है। ग्राहकों को घर पर बैकिंग सेवा, ऑनलाइन ऋण सुविधा उपलब्ध होगी।

बिना मंजूरी खाते में रकम जमा नहीं
नए नियमों के लागू होने पर कोई भी आपके खाते में बिना आपकी मंजूरी के रकम नहीं जमा करा पाएगा। कई बार किसी उपभोक्ता के खाते में राशि आ जाती थी और पैसा जमा करने वाले की पहचान नहीं हो पाती थी। नोटबंदी के दौरान काला धन छोटे खातों में जमा करने की शिकायतें थीं। विशेषज्ञों का कहना है कि अब ऐसा नहीं हो सकेगा और उपभोक्ता नहीं कह सकेंगे कि उन्हें पता नहीं है। खाते में जमा रकम पर उसकी जवाबदेही होगी।

कोर बैंकिंग से मदद
ज्यादातर बैंक कोर बैंकिंग से जुड़े हुए हैं। इससे एक बैंक का ग्राहक उसकी किसी भी शाखा में जमा या निकासी कर सकता है। सरकारी बैंक टीसीएस या इन्फोसिस के प्लेटफॉर्म का कोर बैंकिंग के लिए इस्तेमाल करते हैं। यदि सभी बैंकों को एक दूसरे से जोड़ना होगा तो एक प्लेटफॉर्म की जरूरत होगा या फिर एक-दूसरे के प्लेटफॉर्म को साझा करने की सुविधा देनी होगी।

loading...
=>