सूबे के पुलिसकर्मियों को अब पेंशन के लिए नहीं लेना होगा टेंशन , प्रत्येक गुरूवार होगी समीक्षा बैठक -हसनैन खां

सूबे के पुलिसकर्मियों को पेंशन के लिए रिटायरमेंट के 6 माह पूर्व ही सारे कागजात कर लिये जाएंगे पुरी ,बिना कारण पेंशन रोकने पर होगी कार्रवाई

पटना ( अ सं ) । पुरे जीवन सरकारी सेवा देने के बाद रिटायरमेंट दुख की घड़ी होती हैं ।उसे सुख की घड़ीर, खुशी और स्वस्थ रहने के लिए पेंशन ही सहारा होता हैं । पेंशन में पेंच फंसता है तो बड़ा ही दुखदायी होता हैं । इस परेशानी से निजात देने के लिए पुलिस मुख्यालय ने बड़ा निर्णय लिया हैं ।  आईजी ( मुख्यालय ) नैय्यर हसनैन खां ने पुलिस विभाग और जिला पुलिस को पत्र लिखकर आदेश जारी किया हैं की पुलिसकर्मियों के सेवानिवृत्ती के दो साल पूर्व से ही सारी लेखा-जोखा सेवा पुस्तिका में अंकित होनी चाहिए और सेवानिवृत्त के 6 माह पूर्व ही पेंशन से संबंधित सारे कागजात पुरी कर महालेखाकार को भेजने की प्रक्रिया की जाएं। ताकि किसी को बेवजह न्यायालय नहीं जाना पड़ा ।बिना कारण पेंशन को रोकना अपराध समान है और जो उत्तरदायी ऐसा करते पाएं जाएंगे उनके खिलाफ पुलिस मुख्यालय जांचोउपरांत कार्रवाई करेंगी ।
पुलिसकर्मियों की पेंशन विवाद /मामले को निपटाने के लिए आईजी (मुख्यालय ) सह आईजी ( बजट ,अपील एवं कल्याण)  प्रत्येक गुरुवार को 11 बजे दिन में पुलिस मुख्यालय में सभी जोन के संबंधित पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर मामले का निष्पादन करेंगे । महिना के प्रथम सप्ताह के गुरुवार को पटना जोन व बिहार पुलिस सैन्य केन्द्रीय मंडल के सभी वाहनी  द्वितीय सप्ताह के गुरुवार को मुजफ्फरपुर जोन व बिहार पुलिस सैन्य वाहनी के उत्तरी मंडल ,तृतीय सप्ताह के गुरुवार को दरभंगा जोन व सभी रेल जिला एवं चतुर्थ सप्ताह के गुरुवार को भागलपुर जोन व सभी इकाइयों से जुड़े पुलिसकर्मियों के पेंशन विवाद का निपटारा किया जाएंगा । यह आदेश तत्काल प्रभाव से जारी कर दिया गया हैं ।
loading...
=>