बच्चों की तरह पाले जो 18 कुत्ते, वो ही मालिक को जिंदा खा गए

ये दिल दहला देने वाला मामला अमेरिका के टेक्‍सास से सामने आया है. जहाँ पिछले कुछ दिनों से लापता एक शख्‍स को उसके ही पालतू कुत्‍तों ने चबा गए। अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि इस व्‍यक्ति की हड्डियां तक कुत्‍तों ने चबा ली है और डीएनए टेस्टिंग से इस बात की पुष्टि हुई है। इस मामले ने पुलिस के साथ-साथ शेरिफ को भी हैरानी में डाल दिया है। बीते मंगलवार को मेडिकल एग्‍जामिनर्स की तरफ से इस बात पर आधिकारिक मोहर भी लगा दी गयी है है। जिस व्‍यक्ति की मौत हुई उसकी उम्र 57 वर्ष थी और उनका नाम फ्रेडी मैक था।

डीएनए टेस्‍ट में हुआ बड़ा खुलासा 

जानकारी के लिए बताते चले फ्रेडी बीते 19 अप्रैल से लापता थे और उनका कुछ पता नहीं चाल रहा था। बताते चले जॉनसन काउंटी के शेरिफ की ओर से बताया गया है कि कुत्‍तों के पास से हड्डी के कुछ टुकड़ें मिले और फिर उनका डीएनए टेस्‍ट कराया गया।  इस बात की पुष्टि हो सकी कि वह फ्रेडी के ही थे। मेडिकल एग्‍जामिनर की तरफ से भी यही बात कही गई है। डिप्‍टी एरॉन पिट्स ने बताया कि फ्रेडी ने 18 मिक्‍स्‍ड ब्रीड के कुत्‍ते पाले हुए थे। इन कुत्‍तों ने फ्रेडी के पूरे शरीर को खा लिया। यहां तक उनके कपड़े और उनके बाल तक कुत्‍तों ने खा लिए। इन कुत्‍तों ने दो से पांच इंच तक के हड्डी के अंश के अलावा और कुछ नहीं छोड़ा था।

इस घटना ने सभी को हैरानी में डाल दिया 

इस घाना ने सभी को हैरानी में डाल दिया. वही इस  मामले में पिट्स ने एक न्‍यूज एजेंसी को जनकारी देते हुए बता की,  उन्होंने कहा ‘हमने आज तक ऐसी घटना के बारे में न तो सुना और न ही कभी देखी, जिसमें एक पूरे इंसान को ही कुत्तो ने खा लिया हो।’ उन्‍होंने कहा कि हड्डियां पूरी तरह से टूटी और चबाई हुई मिली हैं। फ्रेडी कुछ स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का भी सामना कर रहे थे। अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि फ्रेडी किसी बीमारी से पहले मरे और फिर कुत्‍तों ने उन्‍हें खा डाला या फिर कुत्‍तों ने ही उन्‍हें मार दिया। शेरिफ एडम किंग ने कहा कि जो भी है, वह बहुत ही डरावना और नृशंस हैं। उन्‍होंने अपने बयान में कहा कहा कि उनके संवेदनाएं फ्रेडी मैक के परिवार के साथ हैं। मई माह में उनके एक रिश्‍तेदार ने जानकारी दी थी कि मैक वीनस में अपने घर से गायब हैं।

13 कुत्‍तों को मारा गया

जो बड़े टुकड़े थे उन्‍हें यूनिवर्सिटी ऑफ नॉर्थ टेक्‍सास सेंटर फॉर ह्यूमन रिमेन्‍स आईडेंटीफिकेशन में भेजा गया। इन अंशों में पाया गया मैक का डीएनए तुरंत ही उनके परिवार के डीएनए से मिल गया। पिट्स ने बताया कि दो कुत्‍तों को उनके ही साथियों ने मारा डाला। 13 कुत्‍तों को अधिकारिक तरीके से मारा गया क्‍योंकि वह काफी उग्र थे। वहीं, तीन कुत्‍तों को एडॉप्‍शन के लिए रखा गया है। पिट्स ने बताया कि पिट्स ने हमेशा अपने कुत्‍तों की परवाह की और उन्‍हें कभी भूखा नहीं रखा। वह अपने कुत्‍तों से बहुत प्‍यार करते थे। साल 2017 में पिट्स से पूछा गया था कि क्‍या कोई अस्‍पताल से आकर उनके कुत्‍तों का चेक-अप कर सकता है।

=>