राज्यों की पुलिस व केन्द्रीय पुलिस बलों की कार्य पद्धति में सुधार आवश्यक : मुख्यमंत्री

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था और देश की आंतरिक सुरक्षा व प्राकृतिक आपदाओं में राज्यों की पुलिस तथा केन्द्रीय पुलिस बलों की महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर देते हुए कहा है कि समय के साथ पुलिस व अन्य केन्द्रीय बलों को अपनी कार्य पद्धति में नवीनतम वैज्ञानिक तकनीक और अन्वेषण के आधार पर सुधार लाना आवश्यक है। ऐसा करके वे अपनी कार्यशैली का बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि इस अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट की तरह उत्तर प्रदेश पुलिस की भी ड्यूटी मीट आयोजित किए जाने के प्रयास किए जाएं।
मुख्यमंत्री शनिवार को 35वीं वाहिनी पी0ए0सी0, महानगर में 62वीं अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट के समापन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने विभिन्न स्पर्धाओं के विजयी प्रतिभागियों व राज्यों को ट्रॉफी प्रदान कर सम्मानित किया। उन्होंने देश के विभिन्न राज्यों व केन्द्रीय पुलिस बलों का स्वागत करते हुए कहा कि इस प्रकार की प्रतियोगिताओं में विभिन्न राज्यों और पुलिस संगठनों को एक-दूसरे से मिलने-जुलने का अवसर मिलता है। साथ ही, जानकारियों को साझा करने व उत्कृष्टता हासिल करने की भावना भी पैदा होती है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न राज्यों की आर्थिक, सामाजिक व भौगोलिक परिस्थिति अलग-अलग होती है। ऐसे में वे वैज्ञानिक शोध और तकनीक के आधार पर पुलिस की कार्यशैली व कानून व्यवस्था में सुधार लाने की जानकारी एक-दूसरे को आदान-प्रदान करते हैं। उन उपायों पर भी चर्चा होती है, जिनसे प्राकृतिक आपदाओं में जन-धन की हानि को न्यूनतम किए जाने का पता चलता है। व्यापक जनहित में यह जानकारी पुलिस की कार्यप्रणाली के लिए महत्वपूर्ण है। इसलिए इस प्रकार के आयोजन सराहनीय हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट का आयोजन 20 वर्षों के बाद उत्तर प्रदेश में हुआ है, जिसमें विभिन्न राज्यों व केन्द्रीय पुलिस संगठनों की 30 टीमें सम्मिलित हुई हैं। उन्होंने कहा कि इस ड्यूटी मीट में पुलिस फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, कम्प्यूटर अवेयरनेस, एण्टी सेबोटेज चेक, वैज्ञानिक अनुसंधान तथा डॉग स्क्वायॅड से सम्बन्धित प्रतियोगिताएं आयोजित की गईं। यह सभी पुलिस की आधुनिक कार्यप्रणाली से जुड़ी हुई हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि इन स्पर्धाओं से पुलिस की कार्यप्रणाली में सुधार आएगा तथा वह कानून व्यवस्था, सुरक्षा तथा प्राकृतिक आपदाओं के सम्बन्ध में जनता की बेहतर ढंग से सेवा कर सकेगी।
मुख्यमंत्री ने इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक व अन्य पुलिस अधिकारियों की सराहना करते हुए कहा कि इस पुलिस ड्यूटी मीट में पुलिस कर्मियों द्वारा अच्छे आचरण और प्रतिभा का प्रदर्शन किया गया। उन्होंने पदक प्राप्त टीमों व प्रतिभागियों तथा उनके प्रशिक्षकों को बधाई देते हुए कहा कि जो प्रतिभागी किन्हीं कारणों से सफल नहीं हो पाए, भविष्य में वे बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। उन्होंने प्रतियोगिता के समस्त निर्णायकों की भी सराहना की।
इस अवसर पर जीवन रक्षा के लिए प्रधानमंत्री पुलिस पदक 2017 से पुष्पा बालि ए0एस0आई0 पंजाब पुलिस, सुरेन्द्र पाल हेड कॉन्सटेबल पंजाब पुलिस, शीतल कुमार राम नाथ बलाल ए0एस0आई0 महाराष्ट्र पुलिस, स्व0 हरेन्द्र सिंह हेड कॉन्सटेबल सी0आर0पी0एफ0 और श्री दोरजी टेसरिंग (आई0टी0बी0पी0) को सम्मानित किया। कम्प्यूटर अवेयरनेस प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश के तरू माथुर व प्रमोद कुमार प्रथम स्थान पर, केरल के जॉन्स राज व जिथिन रॉय द्वितीय स्थान पर तथा तमिलनाडु के जे0 इन्दुमती व के0 अरुणाश्री तीसरे स्थान पर रहे।
इसी प्रकार एण्टी सेबोटेज चेक के लिए बी0एस0एफ0 के मनीष शर्मा प्रथम तथा हरीश कुमार द्वितीय, कर्नाटक के शंकर कुलाल व उत्तर प्रदेश के राम सरिख राम तृतीय स्थान पर रहे। इनके अलावा, वैज्ञानिक अनुसंधान प्रतियोगिता में तमिलनाडु विजेता व उप विजेता तथा महाराष्ट्र हार्डलाइनर के रूप में पुरस्कृत किए गए। एण्टी सेबोटेज चेक के लिए आई0टी0बी0पी0 विजेता व बी0एस0एफ0 उप विजेता, कम्प्यूटर अवेयरनेस प्रतियोगिता में केरल विजेता व उत्तर प्रदेश उप विजेता, वीडियोग्राफी में आन्ध्र प्रदेश विजेता व महाराष्ट्र उप विजेता, फोटोग्राफी में आन्ध्र प्रदेश विजेता व आई0टी0बी0पी0 उप विजेता तथा डॉग स्क्वॉयड में तमिलनाडु विजेता व एस0एस0बी0 उप विजेता रहे।
बेस्ट डॉग का पुरस्कार तमिलनाडु के लिंगा को दिया गया। महाराष्ट्र प्रदेश ओवरऑल बेस्ट टीम के रूप में रही। डी0जी0एन0सी0आर0बी0 ट्रॉफी सी0पी0ओज गु्रप, सी0आई0एस0एफ0 को तथा डी0जी0 एन0सी0आर0बी0 ट्रॉफी स्टेट/यू0टी0 ग्रुप, उत्तर प्रदेश व ओडिशा को संयुक्त रूप से प्रदान की गई। इन सभी को मुख्यमंत्री ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया। विभिन्न पुलिस संगठनों की ओर से बैण्ड प्रदर्शन किया गया। भव्य मार्च पास्ट भी आयोजित हुआ। मुख्यमंत्री जी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

=>