लखनऊ

पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़

लखनऊ। राजधानी पुलिस की रविवार तड़के बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। कृष्णानगर के केसरी खेड़ा अंडर पास के हुए एनकाउंटर में तीन बदमाशों के पैर में गोली लगी। वहीं दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। एसएसपी कलानिधि नैथानी के मुताबिक बदमाशों ने कृष्णानगर में आरके ज्वैलर्स के यहां लूट व दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया था। बदमाशों ने रेकी कर तीन व्यापारियों के यहां लूट की योजना बनाई थी। पूछताछ में बदमाशों ने गोमतीनगर में किराना व्यापारी की हत्या व लूट तथा नाका में आइसक्रीम पार्लर के यहां लूट की वारदात को भी अंजाम देने की बात कबूल की है। एडीजी जोन राजीव कृष्णा, आईजी जोन लखनऊ एसके भगत और एसएसपी कलानिधि नैथानी ने संयुक्त प्रेसवार्ता में ये पूरी जानकारी दी।  

एसएसपी ने बताया कि आरके ज्वैलर्स लूट व हत्याकांड की वारदात को राजफाश करने के लिए सीओ कृष्णानगर अमित कुमार राय, सीओ आलमबाग लाल प्रताप और सीओ क्राइम दीपक कुमार सिंह को लगाया गया था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने रविवार तड़के करीब साढ़े तीन से चार बजे के बीच एक बाइक से जा रहे तीन संदिग्ध युवकों को रोकने की कोशिश की। इसपर तीनों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई में तीनों के पैर में गोली लगी। बदमाशों की पहचान चौपटिया रोड सआदतगंज निवासी अजय गुप्ता उर्फ टिंकू नेपाली, गोकुल रेजीडेंसी मोहनलालगंज निवासी मोहक शास्त्री और करेहटा ऐशबाग निवासी लईक के रूप में हुई है। बदमाशों के पास एक पिस्टल, दो तमंचा और एक बाइक बरामद की गई है। मुठभेड़ में कृष्णानगर कोतवाली में तैनात सिपाही सुनील राय और आलमबाग थाने में तैनात सिपाही अखिलेश घायल हो गए।

बड़ी लूट का था इरादा
एसएसपी ने बताया कि बदमाशों को दो घटनाओं में ज्यादा नगदी नहीं मिली थी। इससे वह बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। तीनों पर लूट और हत्या के कई मुकदमे दर्ज हैं। गिरोह का सरगना टिंकू कपाला है, जो अभी फरार है। टिंकू पर भी यूपी के अलावा गुजरात और महाराष्ट्र में हत्या व डकैती के करीब 18 मुकदमे दर्ज हैं। इसी गिरोह ने बिहार के मुजफ्फरपुर में भी दो डकैती डाली थी। एडीजी जोन राजीव कृष्णा ने बदमाशों को पकड वाली टीम को 75 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है।

बदमाशों का अपराधिक इतिहास

टिंकू नेपाली- सआदतगंज में लूट के आरोप में वर्ष 2004 में पहली बार जेल गया था। एक साल बाद आरोपित ने वजीरगंज में अम्बरीष मिश्रा की हत्या की थी। कई साल तक आरोपित जेल में था और जमानत पर छूटते ही वारदात को अंजाम देता था।

मोहक अवस्थी- आरोपित ने गोमतीनगर में वर्ष 2013 में एक दंपती की हत्या कर लूट की वारदात को अंजाम दिया था। मोहित ने करीब 80 लाख से ज्यादा की कीमत का सोना लूटा था। वर्ष 2016 में जेल से छूटकर आया था।

लईक- ऐशबाग में स्कूल वैन चलाता था। टिंकू के साथ मिलकर टेढ़ीपुलिया स्थित काशी ज्वैलर्स के यहां लूट की घटना को अंजाम देने गया था। हालांकि दुकान बंद होने के कारण सफल नहीं हो सका था।

ऐसे हुई थी आरके ज्वैलर्स के यहां लूट व हत्या
दो फरवरी 2019 को कृष्णानगर स्थित आरके ज्वैलर्स के यहां दुकान मालिक राजीव कुमार गुप्ता को बाइक सवार तीन बदमाशों ने गोली मार दी थी। बदमाश फायरिंग करते हुए दुकान में दाखिल हुए थे और सबसे पहले वहां के कर्मचारी गुड्डू पटवा एटीएम बूथ के गार्ड देशराज की हत्या कर दी थी। हमले में वहां से गुजर रही युवती मनीषा भी घायल हो गई थीं। वहीं राजीव को तीन गोली लगी थी। बदमाशों ने कीमती जेवर लूट लिए थे।

loading...
=>

Related Articles