उत्तर प्रदेशहरदोई

मल्लावां,गोरखधंधों में लिप्त नर्सिंगहोमों पर चला प्रशासन का हंटर,तीन नर्सिंगहोम सीज

मल्लावां,गोरखधंधों में लिप्त नर्सिंगहोमों पर चला प्रशासन का हंटर,तीन नर्सिंगहोम सीज देखें बिलग्राम उपजिला अधिकारी के निर्देश
मल्लावां ,हरदोई -जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम ने नर्सिंग होम पर छापा मारा तथा तीन नर्सिंग होमों को सीज कर तीन लोगों को हिरासत में लिया व शेष चल रहे नर्सिंगहोमों कुछ में ताला बंद मिला।मिट्ठू बाबा के निकट चल रहा प्रिया क्लीनिक अस्पताल का रजिस्ट्रेशन होने के बावजूद डॉक्टर को उसको नोटिस भेज कर जवाब मांगने का आदेश एसडीएम ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक कोे दिया है।मल्लावां कस्बे में लगभग एक दर्जन से अधिक गोरखधंधों में लिप्त अवैध रूप से नर्सिंग होम चल रहे हैं।लेकिन किसी भी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी का भय नाम की चीज न थी। कछौना में हुई मौत से जिला प्रशासन हरकत में आया तो डीएम ने तत्काल जांच के आदेश दिए।शनिवार को बिलग्राम एसडीएम सत्येंद्र सिंह ,सीओ बिलग्राम एस आर कुशवाहा व मल्लावां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ. अरविंद मिश्रा ने संयुक्त रूप से न्यू बालाजी हॉस्पिटल एंड मैटरनिटी सेंटर राघौपुर रोड ,बालाजी नर्सिंग होम राघौपुर रोड व विष्णु नर्सिंग होम,तुलसी हॉस्पिटल बाजीगंज व मिट्ठू बाबा के निकट संचालित प्रिया क्लीनिक ( डा. यादव क्लीनिक) की जांच की। जिसमें तुलसी अस्पताल में ताला बंद मिला, जिसमें तीन मरीज गंभीर हालत में मौके पर भर्ती मिले। प्रशासनिक अमला देखकर कर्मचारी भाग खड़े हुए। लेकिन मल्लावां के इस सबसे बड़े क्लीनिक में कोई भी जिम्मेदार व्यक्ति नहीं मिला तो एसडीएम ने नोटिस भेजने का आदेश दिया।वहीं से जवाब तलब करने को कहा। इसके अलावा बालाजी नर्सिंग होम में पांच मरीज भर्ती थे।न्यू बालाजी में दो मरीज भर्ती थे।वहीं विष्णु नर्सिंग होम में भर्ती मरीज अधिकारियों को देख कर भाग गए।यहां भी कोई मरीज नहीं मिला तथा तीन लोगों को हिरासत में ले लिया गया, जिनसे पूछताछ चल रही है।एसडीएम सतेंद्र सिंह ने बताया कि तीन फर्जी रूप से संचालित नर्सिग होमों को सील किया गया है।शेष पर कार्रवाई की जाएगी और जो मरीज इन फर्जी नर्सिंग होमों  में भर्ती हैं उनको सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया जाएगा।
loading...
Loading...

Related Articles