लखनऊ

योगी सरकार की नीतियों व खराब कानून व्यवस्था पर शिवपाल यादव का हल्ला बोल

लखनऊ। यूपी सरकार की खराब नीतियों व कानून व्यवस्था को लेकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कार्यकर्ताओं के साथ विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून का राज खत्म हो चुका है। अपराधी बेखौफ हैं। उनके सामने योगी सरकार पूरी तरह लाचार नजर आ रही है। शिवपाल ने कार्यकर्ताओं संग पार्टी कार्यालय से लेकर राजभवन तक मार्च निकाला और प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता व नेता मौजूद रहे।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के सैकड़ों की संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता प्रसपा कार्यालय के बाहर इकट्ठे हुए। कार्यकर्ता पार्टी कार्यालय से नारेबजी करते निकले। लेकिन पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही बैरिकेडिंग लगाकर रोक लिया। इससे नाराज कार्यकर्ता बैरिकेडिंग पर चढ़कर प्रदर्शन करने लगे। विशाल प्रदर्शन की सूचना मिलते ही कई थानों की पुलिस मौके पर बुला ली गई। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को मनाने का प्रयास किया लेकिन वह उग्र हो गए। इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों को धक्कामुक्की भी हुई। प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया। इस दौरान मौके पर पहुंचे जिला प्रशासन के अधिकारियों ने ज्ञापन लेकर प्रदर्शन समाप्त कराया। प्रदर्शन के दौरान उस रास्ते सहित आस-पास की गलियां भी जाम से चोक हो गईं। घंटों की मशक्कत के बाद पुलिस ने यातायात को सुचारु रूप से चालू करवाया।

राज्यपाल को दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि वर्तमान प्रदेश सरकार जब से सत्ता में आई है प्रदेश का हर वर्ग सरकार की जनविरोधी नीतियों का अत्याचार से पीड़ित है। किसानों को बुनियादी जरूरतें जैसे खाद, बीज, पानी, बिजली के लिए मोहताज होना पड़ रहा है। बढ़ती महंगाई से कृषि लागत मूल्य में लगातार वृद्धि हो रही है। फसलों की समयबद्ध खरीद व व्यावहारिक न्यूनतम समर्थन मूल्य के अभाव में किसानों को लाभकारी मूल्य तो दूर लागत मूल्य भी नहीं मिल पा रहा है। बीज, खाद, सिंचाई पर कोई ध्यान नहीं दिए जाने से बाजार बिचौलियों के कब्जे में चला गया है और किसान कर्ज में डूबता जा रहा है। खरीद केंद्रों में लूट मची हुई है।बिचौलिए और भ्रष्टाचारी मजे कर रहे हैं। सरकार महंगाई रोकने में असफल है। भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। प्रदेश में विकास कार्य ठप है। प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चौपट है। आज महिलाएं व बच्चे असुरक्षित हैं। जिला, तहसील मुख्यालयों, थाना में किसानों एवं आम जनता का शोषण उत्पीड़न हो रहा है।

राजधानी में अतिक्रमण व प्रदूषण के नाम पर गरीब, पटरी दुकानदार, टेंपो, ऑटो, रिक्शा चालकों का प्रशासन द्वारा बड़े पैमाने पर उत्पीड़न किया जा रहा है।प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया ने उत्तर प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों को किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ इन सभी बिंदुओं को ध्यान में लाने के लिए निर्णय लिया। पार्टी ने सरकार को अवगत कराने के लिए ये ज्ञापन आपको सौंपा है। ऐसे में पार्टी संवैधानिक व समाजवादी मूल्यों के दायरे में जन आंदोलन करेगी। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी प्रदेश की आम जनता को हो रही समस्याओं के संबंध में प्रतिनिधिमंडल के माध्यम से आपको एक ज्ञापन सौंप रही है। प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के विरुद्ध अनुरोध करते करते हुए प्रासपा ने राज्य सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है।

loading...
Loading...

Related Articles