सुपरबग बन सकती है एक ऐसी सेक्सुअल बीमारी, जाने पूरी खबर

सेक्सुअल बीमारी के बारे में जानकारी रखना बेहद जरूरी होता है. कभी-कभी लोगों को पता भी नहीं चलता और वो उसके भयंकर शिकार हो जाते हैं. ऐसे ही माइकोप्लाज़्मा जेनिटेलियम (Mycoplasma Genitalium) वो संक्रामक सेक्सुअल बीमारी है, जिस पर अगर समय पर ध्यान न दिया गया तो यह अगला सुपरबग साबित हो सकती है। दुनिया भर के स्वास्थ्य विशेषज्ञ इस बात की चेतावनी दे रहे हैं। आम तौर पर Mycoplasma Genitalium के कोई शुरुआती लक्षण नहीं होते, लेकिन इससे महिलाओं और पुरुषों, दोनों के जननांगों में संक्रमण हो सकता है। ये इतना ख़तरनाक है कि इससे औरतों में बांझपन भी हो सकता है।

एमजी (Mycoplasma Genitalium) की सबसे बड़ी परेशानी यह है कि लोगों को यह शुरुआत में समझ में नहीं आती है। इसके अलावा इसके इलाज में भी बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। कई बार तो इस पर एंटीबायोटिक्स का असर होना बंद हो जाता है।

क्या है माइकोप्लाज्मा जेनिटेलियम ?

what is Mycoplasma Genitalium in Hindi

इस बीमारी की मुख्य वजह इकोप्लाज्मा जेनिटेलियम नामक एक जीवाणु होता है। यह जीवाणु पुरुषों के जननांग में सूजन, और स्राव का कारण बनता है। इसकी वजह से पेशाब करने में भी दर्द होता है।

महिलाओं में गर्भाशय और फैलोपियन ट्यूब तक इंफेक्शन हो जाता है। इंफेक्शन की वजह से दर्द और रक्तस्राव की समस्या होने लगती है। दर्द की वजह से बुखार की भी परेशानी होती है।

कैसे फैलता है एमजी 

एमजी मुख्यतः असुक्षित सेक्स के कारण होता है। कई लोगों के साथ सेक्स संबंध रखने से भी इसके फैलने का खतरा बढ़ जाता है। कंडोम का इस्तेमाल करके इस बीमारी से बचा जा सकता है।

माइकोप्लाज़्मा जेनिटेलियम का इलाज

एमजी का इलाज करना शुरुआत में आसान होता है लेकिन तब इसका पता नहीं चलता है। हाल में कुछ टेस्ट होने लगे हैं जिससे पता लगाया जा सकता है। इलाज में एंटीबायोटिक्स का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन कुछ मामलों में इस पर दवाओं का असर नहीं होता है।

इलाज से ज्यादा इस रोग से बचाव ज्यादा कारगर होता है। सेक्सुअल संबंधों को लेकर सावधान रहना चाहिए। असुरक्षित सेक्स संबंध से अच्छा है कंडोम का इस्तेमाल करें।

सेक्सुअल बीमारियों खतरनाक इसलिए भी होती है क्योंकि इसके बारे में लोग तब बात करते हैं जब खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है.

=>