दिल्ली-एनसीआर में रात भर झमाझम बारिश, इन राज्यों में तेज वर्षा का अलर्ट जारी

नई दिल्ली। उमस भरी गर्मी के बाद मंगलवार को मौसम ने फिर करवट ली। देर रात तक पूरे दिल्ली एनसीआर में झमाझम बारिश हुई। इससे मौसम का मिजाज भी बदला और दिल्ली वासियों को गर्मी से राहत भी मिली

वहीं दक्षिण भारतीय राज्य केरल को बाढ़ और बारिश से फिलहाल राहत मिलती नहीं दिख रही है। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में मध्य केरल में भारी बारिश की चेतावनी दी है। वहीं बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से ओडिशा में भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। लेकिन महाराष्ट्र और कर्नाटक को मंगलवार को कुछ राहत मिली। बारिश बंद होने से राहत और बचाव कार्यो में तेजी आई। बारिश और बाढ़ से केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात में मरने वालों की संख्या 225 पहुंच गई है। उत्तर प्रदेश में बारिश के चलते दो लोगों की मौत हो गई है।

अगले दो दिन होगी तेज बारिश
मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि बारिश का यह दौर अभी कई दिनों तक जारी रहेगा। अगले दो दिनों के दौरान कुछ में तेज बारिश भी हो सकती है। मंगलवार को सुबह के समय हालांकि मौसम साफ था। दोपहर तक सूरज भी निकला रहा और तेज धूप भी खिली रही। इसके चलते लोगों को खासी उमस का सामना भी करना पड़ा। लेकिन दोपहर के बाद मौसम में बदलाव आने लगा। दिल्ली में ज्यादातर जगहों घने बादल छा गए। इसी दौरान कहीं अच्छी बारिश हुई तो कहीं हल्की। हवा में नमी का स्तर 62 से 92 फीसद दर्ज किया गया। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि सप्ताह भर तक बादल और बारिश का यह दौर दिल्ली में जारी रहेगा। बुधवार और बृहस्पतिवार को दिल्ली के कई हिस्सों में झमाझम बरसात होने की संभावना है। शुक्रवार को हल्की बरसात का पूर्वानुमान है। शनिवार को फिर घने बादल छाने और झमाझम बारिश के आसार हैं।

केरल के कई जिलों में रेड अलर्ट
केरल में मलप्पुरम और कोझोकोड जिले में भारी बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है। मध्य केरल के कई हिस्सों में भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। हालांकि, उत्तरी केरल को बाढ़ से कुछ राहत मिली है।

तिरुवनंतपुरम में भारतीय मौैसम विज्ञान विभाग के निदेशक के. संतोष ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र और मजबूत हुआ है, जिससे राज्य के कई भागों में भारी बारिश का खतरा बढ़ गया है। केरल में आठ अगस्त के बाद से बाढ़ और बारिश से अब तक 91 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 59 लोग लापता हैं। केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर बाढ़ की पूर्व सूचना प्रणाली विकसित करने का सुझाव दिया है ताकि लोगों की जिंदगी बचाई जा सके।

महाराष्ट्र में पानी कम होने से राहत व बचाव कार्य में तेजी
महाराष्ट्र के सांगली और कोल्हापुर जिलों में बचाव कार्य पूरा हो गया है। पानी कम होने के बाद राहत कार्यो में तेजी आ गई है। अब प्रशासन का ध्यान पीडि़तों तक जल्द से जल्द राहत पहुंचाने पर लग गया है। राज्य में मरने वालों की संख्या 49 पहुंच गई है।

कर्नाटक और गुजरात में भी बाढ़ से अब धीरे-धीरे हालात सुधर रहे
कर्नाटक में भी बाढ़ से अब धीरे-धीरे हालात सुधर रहे हैं। नदियों और जलाशयों में पानी कम होने लगा है। राज्य में मरने वालों की संख्या 54 पर पहुंच गई है। एक हजार से ज्यादा लोग राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। हालात को देखते हुए राज्य सरकार ने सादे तरीके से आजादी का जश्न मनाने का फैसला किया है। गुजरात में भी धीरे-धीरे स्थिति में सुधार हो रहा है। राज्य में अब तक 31 लोगों की मौत हुई है।

अगले चार दिन पंजाब में झमाझम बारिश के आसार
पंजाब में मंगलवार को मानसून जमकर बरसा। इंडिया मैट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट चंडीगढ़ के अनुसार पंजाब में अगले चार दिनों तक बारिश के आसार है। कुछ जिलों में तेज बारिश की संभावना जताई गई है। जबकि, कुछ जिलों में हल्की बारिश होने का अनुमान है। विभाग के अनुसार 19 अगस्त के बाद ही मौसम साफ होगा। मंगलवार को सुबह पांच बजे से दस बजे तक पंजाब के कई हिस्सों में जोरदार बारिश हुई।

=>