उत्तर प्रदेशजौनपुर

जौनपुर: लूटकाण्ड के तीन आरोपी लाकअप से फरार

क्राइम ब्रांच की टीम ने किया था गिरफ्तार, कोतवाल सहित तीन हुए निलंबित

मड़ियाहूं । लूटकाण्ड की घटना में तीन आरोपियों के कोतवाली से फरार हो जाने की ख़बर लगते ही हड़कंप मच गया। क्राइम ब्रांच की टीम ने उक्त तीनों आरोपितों को गिरफ्तार किया था। आखिर पुलिस को इस गलती का खामियाजा भुगतना ही पड़ा। गाज गिराते हुए आरक्षी अधीक्षक विपिन मिश्र ने कोतवाल सहित तीन को निलंबित कर दिया।

फरार तीनों आरोपित दवा कारोबारी से हुए लूटकाण्ड में आरोपित थे।
ज्ञात हो कि लाइन बाजार थाना क्षेत्र के बैंकर्स कालोनी निवासी भानु प्रकाश सिंह दवा के कारोबारी हैं। गत चार अगस्त की शाम वह तगादा करने निकले थे। वापस लौटते समय मडिय़ाहूं कोतवाली क्षेत्र के पाली बाजार के पास तीन बदमाशों ने कारोबारी को घेर लिया था। प्रतिरोध करने पर बदमाशों ने तमंचा निकाल लिया और कारोबारी से लूट का प्रयास करने लगे। प्रतिरोध के दौरान एक बदमाश का मोबाईल मौका-ए-वारदात पर गिर गया था।

घटना को अंजाम देने के बाद तीनों बदमाश फरार हो गए थे। इस मामले में भुक्तभोगी ने मडिय़ाहूं कोतवाली में लूट की घटना के बाबत तहरीर दी थी। मामले के विवचेना की कमान क्राइम ब्रांच के सिपुर्द की गई थी। बदमाश के गिरी मोबाइल से मिली जानकारी के बूते क्राइम ब्रांच को जल्द सफलता मिल गयी। टीम ने वाराणसी जनपद के बाबतपुर निवासी संजय पटेल, रामपुर थाना क्षेत्र के सिरौली गांव निवासी सलीम शेख और गौराबादशाहपुर थाना क्षेत्र निवासी रुस्तम को धर दबोचा। क्राइम ब्रांच ने तीनों आरोपितों को मडिय़ाहूं कोतवाली पुलिस के हवाले कर दिया। पूछताछ के नाम पर पुलिस पांच दिनों तक तीनों आरोपितों को लाकअप ने रखे हुए थी।

गुरुवार की रात तीनों आरोपित लाकअप से फरार हो गए, जिसका पता चलते ही पुलिस के हाथ पांव फूल गए। जगह-जगह नाकेबंदी के बावजूद आखिर असफलता ही हाथ लगी। आरोपितों के फरार होने की जानकारी होने पर अपर पुलिस अधीक्षक संजय राय कोतवाली पहुंचे और तहकीकात करते हुए मातहतों को कड़ी फटकार लगायी। मामला संज्ञान में आते ही एसपी विपिन मिश्र ने प्रभारी कोतवाली निरीक्षक सुरेन्द्र सिंह, उप निरीक्षक आशुतोष गुप्त और मुंशी उमाशंकर पाल को निलंबित कर दिया।

श्रीप्रकाश वर्मा // tarun mitra.in

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com