हरदोई

हरदोई में स्वाइन फ्लू की मौजूदगी से भय का माहौल

हरदोई में स्वाइन फ्लू की मौजूदगी से भय का माहौल
जिला अस्पताल में बना स्वाइन फ्लू का स्पेशल वार्ड
सफाई का ख्याल रख स्वाइन फ्लू को पहचाने- डॉ मनोज कटियार
हरदोई ।7 सितंबर जिले में कई स्थानों पर बुखार का कहर बढ़ता ही जा रहा है। ग्रामीण इलाकों में बुखार के मरीजों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। ऐसे बुखार की पहचान करना टेढ़ी खीर होती जा रही है। फिर भी जिले में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो जाने से मरीजों में भय व्याप्त है। स्वाइन फ्लू के मामले सामने के आने के बाद स्वास्थ्य महकमे ने संदिग्ध मरीजों को भर्ती करने की व्यवस्था कर ली है। 10 बेड का अलग वार्ड जिला चिकित्सालय में बनाया गया है। शाहाबाद कस्बे में 2 मामले और अरवल थाना क्षेत्र के ग्राम बराना में भी एक बालक के स्वाइन फ्लू से पीड़ित होने की पुष्टि हुई है। प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ एस पी गौतम ने बताया कि डॉक्टरों की टीमें गठित कर दी गई है, और अस्पताल में स्वाइन फ्लू की जांच के लिए किट उपलब्ध है।बीटीएम और पीपीई मौजूद हैं। पीड़ित मरीज साफ सफाई का ध्यान रखकर किसी चिकित्सक की सलाह अवश्य लें। जिले के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ मनोज कटियार ने बताया कि स्वाइन फ्लू की तीन तरह की कैटेगरी सामने आई हैं।
*कैटेगरी ए* साधारण बुखार और खांसी जुकाम और गले में खराश वाले व्यक्तियों को अगर बदन दर्द, दस्त ,उल्टी हो तो उसे कैटेगिरी ए में रखा जाएगा। *कैटेगरी बी- वन* केटेगरी ए वाले व्यक्तियों को तेज बुखार, गले में ज्यादा खराश और चुभन हो तो घर पर ही रहने की सलाह देते हुए ओसिलतामीवीर दवा दी जाए। *केटेगरी बी-2* कैटेगरी ए के ऐसे रोगी जिनकी रोग निवारक क्षमता कम हो और रिस्क फैक्टर्स (55 वर्ष से अधिक आयु के लोग, गर्भवती महिलाएं, 5 वर्ष की आयु से कम के बच्चे हो) उन्हें भी दवा दी जानी चाहिए। *कैटेगिरी सी* कैटेगिरी ए और बी के रोगियों में उक्त लक्षणों के अलावा अगर सांस का फूलना, सीने में दर्द, नींद आना, ब्लड प्रेशर लो होना, नाखूनों का नीला पड़ना और बलगम के साथ खून आना जैसे लक्षण दिखे तो उन्हें तत्काल आप अस्पताल में भर्ती कराकर उपचार प्रारंभ करना चाहिए। डॉक्टर कटियार ने बताया कि स्वाइन फ्लू एक संक्रमण रोग है जो तेजी के साथ फैलता है। छीके आने पर साफ कपड़े का प्रयोग करें और अपने आसपास साफ सफाई का विशेष ख्याल रखें। संभव हो ऐसे मरीजों के संपर्क में आने से बचें। लक्षण दिखने पर तुरंत चिकित्सक से सलाह ले और उपचार कराएं।
loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com