श्रीलंका के खिलाड़ियो ने पाकिस्तान जाने से किया मना

कोलंबो: श्रीलंका के 10 खिलाड़ियों ने सुरक्षा चिंताओं के कारण पाकिस्तान के आगामी दौरे पर न जाने का फैसला किया है। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने बताया कि शुरुआती टीम में शामिल खिलाड़ियों को 27 सितंबर से शुरू हो रही छह मैचों की सीमित ओवरों की श्रृंखला के लिए सुरक्षा इंतजामों की जानकारी दी गई और 10 खिलाड़ियों ने इससे हटने का फैसला किया है।

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने आज खिलाड़ियों को सुरक्षा व्यवस्था के बारे में सूचित करने के लिए बैठक की थी। श्रीलंका के पूर्व एयरफोर्स कमांडर मार्शल एयर रोशन गूनेतिलेका (श्रीलंका क्रिकेट के सुरक्षा सलाहकार) ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की सुरक्षा तैयारियां और पाकिस्तान के सुरक्षा हालातों को लेकर खिलाड़ियों को इससे रूबरू कराया। जबकि चयन समिति के प्रमुख असंथा डी मेल ने भविष्य के दौरों के बारे में चयन को लेकर खिलाड़ियों को जानकारी दी। इस बैठक के बाद श्रीलंका क्रिकेट द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में ये बताया गया कि 10 खिलाड़ी इस दौरे पर जाने के इच्छुक नहीं हैं।

1. निरोशन डिकवेला, 2. कुसल जेनिथ परेरा, 3.धनंजय डी सिल्वा, 4. थिषारा परेरा, 5. अकिला धनंजय, 6. लसिथ मलिंगा, 7. एंजेलो मैथ्यूज, 8. सुरंगा लकमल, 9. दिनेश चंडीमल, 10. दिमुथ करुणारत्ने

इस दौरे को पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट दोबारा शुरू करने की दिशा में अहम कदम के रूप में देखा जा रहा है। बल्लेबाज दनुष्का गुणातिलक ने कहा कि उनका मानना है कि सुरक्षा पर्याप्त होगी। उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें हमें जो बताया उसके अनुसार मुझे लगता है कि वहां कड़ी सुरक्षा होगी।’’ श्रीलंका ने अक्टूबर 2017 में पाकिस्तान में टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। तब परेरा ने टीम की अगुआई की थी लेकिन इस बार उन्होंने बाहर रहने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि इससे पहले जब रविवार कुछ श्रीलंकाई खिलाड़ियों के पाकिस्तान दौरे से हटने की खबर आई थी तब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की तरफ से कोई आधिकारिक बयान तो नहीं आया था लेकिन इतना जरूर सामने आया था कि बोर्ड के शीर्ष अधिकारी इस चर्चा को लेकर चिंतित हैं।
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के एक सूत्र ने कहा था कि, ‘तकनीकी रूप से यह श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड का अंदरूनी मामला है इसलिए हम टिप्पणी नहीं कर सकते। लेकिन दौरा 25 सितंबर से है और हम कराची और लाहौर में उनकी मेजबानी की सभी तैयारियां कर रहे हैं। श्रीलंका बोर्ड तीन एकदिवसीय और तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए जो भी टीम भेजेगा उसे पाकिस्तान स्वीकार करेगा।’

=>