घरेलू हिंसा मामले में मोहम्मद शमी को मिली बड़ी राहत

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को अपनी पत्नी की ओर से दायर किए घरेलू हिंसा के मामले में बड़ी राहत मिली है। शमी और उनके भाई के खिलाफ कार्रवाई को लेकर रोक लगा दी गई है। बता दें अलीपुर कोर्ट ने शमी और उनके भाई के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था और उन्हें 15 दिन के अंदर सरेंडर के लिए कहा था। अब सेशन कोर्ट ने इस मामले के केस रिकॉर्ड भेजने का आदेश दिया है।

साल 2018 में मोहम्मद शमी के खिलाफ उनकी पत्नी हसीन जहां ने घरेलू हिंसा का केस दर्ज कराया था। शमी और उनके भाई के खिलाफ IPC की धारा 498A के तहत केस दर्ज किया था. इसी केस के तहत कोलकाता की अदालत ने शमी को सरेंडर करने के लिए कहा था। बता दें मोहम्मद शमी इस वक्त अमेरिका में हैं. वो वेस्टइंडीज दौरे के बाद अमेरिका में चले गए थे। हालांकि वो अपने वकील के संपर्क में हैं, वहीं बीसीसीआई ने भी उनके वकील से संपर्क साधा हुआ है, बताया जा रहा है कि शमी 12 सितंबर को भारत लौटेंगे।

बता दें मोहम्मद शमी अपनी बीवी के सभी आरोपों को पहले ही खारिज कर चुके हैं। शमी ने इन आरोपों को झूठा बताते हुए उन्हें बदनाम करने की साजिश बताया है। बीसीसीआई (BCCI) भी शमी के साथ खड़ी दिखाई दे रही है। जब घरेलू हिंसा मामले में शमी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ था तो बीसीसीआई ने उनका करार रद्द करने के सवाल को खारिज कर दिया था। साल 2018 में शमी की पत्नी ने उनपर मैच फिक्सिंग के आरोप लगाए थे जिसके बाद बीसीसीआई ने शमी का कॉन्ट्रैक्ट जांच पूरी होने तक रोका था, हालांकि जांच में क्लीन चिट मिलने के बाद उन्हें दोबारा कॉन्ट्रैक्ट दिया गया।

=>