एसपी का परफ़ॉर्मेंस चेक करेंगे आईजी , बेहतर पर मिलेगा ग्रेड

 डीएसपी को पहले ही लंबित मामले को निपटाने के लिए दिया गया है टारगेट

>> अनुसंधान में तेज गति लाने का दिया गया निर्देश ,छोटी घटनाएं की सूचना पर भी स्टेशन डायरी और कार्रवाई

पटना ( अ सं ) । अक्सर यह सुनने के लिए मिलता था की उक्त थानेदार का एसपी ने लिया क्लास । अब एसपी को भी क्लास लगेगी । इनका परफॉर्मेंस चेक होगी ।इसके लिए पटना रेंज आईजी संजय सिंह ने सभी एसएसपी ,सीटी एसपी ,ग्रामीण एसपी को निर्देश जारी किया हैं ।
आईजी संजय सिंह के अनुसार पहले एक साथ पटना जिले के उपलब्धि और अपराध की रिपोर्ट पेश किया जाता था। इससे यह तय कर पाना मुश्किल होता था की किस क्षेत्र में पुलिसिंग बेहतर हुई हैं और कहां काम की ज्यादा जरूरत हैं ।
राजधानी पटना के पुलिसिंग को 5 क्षेत्रों में बांटा गया हैं । एसएसपी के अलावा 5 एसपी को अपने -अपने क्षेत्रों की जिम्मेवारी दी गयी हैं ।इसलिए सभी का कर्तव्य भी अपना -अपना हैं । आईजी संजय सिंह ने कहां की सिर्फ डीएसपी और थानाध्यक्ष ही बेहतर पुलिसिंग के लिए उत्तरदायी नहीं हैं बल्कि एसपी को भी अपने -अपने क्षेत्र की जिम्मेवारी लेने की आवश्यकता हैं । एसपी के बेहतर परफॉर्मेंस से बेहतर पुलिसिंग होती हैं ।
आईजी के अनुसार सीटी एसपी पूर्वी ,पश्चिमी ,मध्य ,ग्रामीण ,यातायात का अलग -अलग मासिक आकड़े उपलब्धि और अपराध की मांग की गयी हैं । जिनका रिजल्ट बेहतर रहेगा उसके अनुसार ग्रेड मिलेगा ।जहां जरूरत होगी वहां और अधिक काम किया जाएंगा।

डीएसपी को मिला है टारगेट

आईजी संजय सिंह ने बताया की सुपरविजन के कारण सैकड़ों मामले लंबित हैं । किसी से कार्रवाई पूछने पर यह बताया जाता हैं की सुपरविजन नहीं निकलने के कारण कार्रवाई तय नहीं हुई हैं । इसे जल्द समाप्त करने के लिए सभी डीएसपी को पूर्व में टारगेट दिया गया हैं । प्रति माह लंबित मामले की समीक्षा की जा रही हैं ।अनुसंधानकर्ता अगर स्थिलता बरतते हैं तो उनपर कार्रवाई की जाएंगी । विधि -व्यवस्था और अनुसंधान की टीमें अलग -अलग काम कर रही हैं । अनुसंधान लंबित रहने से अपराधियों को मौका मिलता हैं ।

छोटी सूचना पर भी करें स्टेशन डायरी और कार्रवाई

आईजी संजय सिंह ने आदेश जारी किया हैं की छोटी सूचनाएं को हल्के में नहीं लिया जाएं। जैसे ही पुलिस को सूचना मिलती हैं सावधानी और विवेक के साथ सही सूचनाएं को पता कर स्टेशन डायरी करें और अविलंब कार्रवाई करें ।सबसे पहले आसपास के थाने ,ओपी आदी को सूचना कर नाकेबंदी करे ताकि अपराधी को भागने का मौका नहीं मिले और अपराधी जल्द पकड़ में आ जाएं। क्विक एक्शन से रिजल्ट तो बेहतर मिलती ही हैं समाज में पुलिस के प्रति अच्छा मैसेज जाता हैं । सुरक्षित समाज ही पुलिस का सही कर्तव्य हैं ,और इसे प्रथम प्राथमिकता दी जानी चाहिए ।
=>