उत्तर प्रदेशहरदोई

भाजपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या का करीबी मन्दिर में शिवलिंग तुड़वाने का आरोपी

जिस भाजपा ने राम मंदिर मुद्दे पर सरकार बनाई उन्ही के कार्यकर्ता ने मंदिर में शिवलिंग को तुड़वा दिया हिन्दू संग़ठन से लेकर बुद्धि जीवी वर्ग इस घटना से आहत डॉ. अरुण मौर्या को भाजपा से निष्कासित करने की उठी मांग यह कथित नेता के हालात यह हैं।सत्ता जिधर डॉ मौर्या उधर

हरदोई। जहां उत्तर प्रदेश से लेकर देश के ज्यादातर प्रदेशों व केंद्र में भाजपा की सरकार है जिस भाजपा के पास सत्ता में पहुंचने का एक मात्र रास्ता राम मंदिर था।जिसके बल बुते पर चौदह वर्ष बाद भाजपा की उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत की सरकार बनी।सनातन धर्म व उनके देवी देवताओं मंदिरों की रक्षा की गारंटी देने वाले हिंदुओं का रहनुमा कहे जाने वाले आर एस एस की धारा से निकली भाजपा में अन्य दलों से आये कथित नेता दूसरी पार्टियों से आने के बाद भी अपनी मानसिकता व कार्यशैली नही बदल पा रहे यह चाटुकार नेता आपको बताते चलें शहर के सुभाष नगर स्थित कुश आश्रम में शिवलिंग तोड़े जाने की घटना के बाद बीजेपी नेता अरुण मौर्या विवादों में घिर गए हैं। उनके विरुद्ध कोतवाली में शिकायती पत्र दिया गया है। बताया गया। कल सुभाषनगर में मौर्या समाज की बैठक बुलायी गयी थी, जिसके अध्यक्ष सीताराम शास्त्री थे, जबकि नेतृत्व भाजपा नेता डॉ. अरुण मौर्या कर रहे थे। आरोप है कि बैठक में डॉ. अरुण मौर्या द्वारा भड़काऊ भाषण दिए गए। हिन्दू देवी देवताओं का अपमान किया गया। बैठक में मौजूद करीब 200 लोगों में ज्यादातर लोगों के पास असलहे व अन्य हथियार थे। बैठक समाप्त होते ही उसमें से कुछ लोग पास के मंदिर में घुस गए और शिवलिंग पर धारदार हथियार से प्रहार कर तोड़ दिया। यह वाकया देख मोहल्ले के लोग जमा हो गए और शिवलिंग तोड़ने वाले व्यक्ति को पकड़कर पुलिस के सुपुर्द कर दिया। इस घटना के बाद बीजेपी नेता डॉ. अरुण मौर्या का विरोध तेजी से शुरू हो गया है। उन पर भडकाऊ भाषण देने, धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाते हुए भाजपा से निष्कासित करने की मांग कर रहे हैं।

loading...
=>

Related Articles