18+

इस तरह की जा सकती है पुरुषों की वर्जिनिटी टेस्‍ट, जाने क्या है तरीका

अकसर लड़कियों की वर्जिनिटी पर सवाल उठाए जाते हैं। जबकि जेंडर इक्‍यूलिटी के दौर में ऐसा कोई सवाल होना ही नहीं चाहिए। पर सेक्‍स को लेकर सबकी अपनी-अपनी च्‍वाइस होती है। अगर आप भी जानना चाहती हैं कि लड़का वर्जिन है या नहीं, तो इन आसान तरीकों से चैक कर सकती हैं उसकी वर्जिनिटी।

यदि वह न कर पाए सेक्स की पहल – अगर आप किसी लड़के के साथ रिलेशनशिप में हैं और वह आपको छूने से हिचकिचाता है या सेक्स करने की पहल नहीं करता है तो इसका अर्थ यह है कि वह लड़का वर्जिन है। वास्तव में वर्जिनिटी खो चुके लड़कों को यह मालूम होता है कि किसी लड़की को सेक्स करने के लिए कैसे तैयार किया जाता है और ऐसे लड़के कभी कभी बिना एक शब्द बोले ही सिर्फ इशारों से लड़की को सेक्स के लिए तैयार कर लेते हैं।

अगर न आता हो कंडोम का इस्‍तेमाल – आमतौर पर वर्जिन लड़कों को लड़कियों के साथ सेक्स करने से पहले पेनिस पर कंडोम लगाना नहीं आता है। वे बार-बार कोशिश करते हैं, लेकिन असफल हो जाते हैं। यह इस बात का संकेत हो सकता है कि लड़का वर्जिन है। जबकि पहले भी सेक्स कर चुके लड़कों को लिंग पर सही तरीके से कंडोम लगाना तो आता ही है साथ में उन्हें इस बात का भी अंदाजा होता है कि सेक्स करते समय कब कंडोम खिसक सकता है और कब नहीं।

अगर सेक्स के दौरान हो घबराहट – जिस तरह जब कोई लड़की पहली बार अपनी वर्जिनिटी खोती है तो घबरायी होती है, ठीक उसी तरह एक वर्जिन लड़का जब किसी लड़की के साथ बिस्तर पर होता है तो, घबराया होता है। वास्तव में वर्जिन लड़के को यह नहीं समझ में आता है कि उसे कहां से शुरूआत करना चाहिए और पहले क्या करना चाहिए। वह अपनी पार्टनर की मदद के बिना कुछ नहीं कर पाता है और अधिक घबराया हुआ दिखायी देता है। जब वह योनि में लिंग प्रवेश कराने की कोशिश करता है और असफल हो जाता है तो वह पसीना-पसीना और बहुत घबराया एवं डरा हुआ दिखायी देता है। इस तरह के लड़के वास्तव में वर्जिन होते हैं।

यदि जल्दी ऑर्गेज्म हो जाता है – लड़कों में ऑर्गेज्म हस्तमैथुन की अपेक्षा सेक्स के दौरान अत्यधिक तेजी से होता है। लेकिन अगर सेक्स करते समय किसी लड़के को बहुत जल्दी ऑर्गेज्म हो जाता है तो इसका अर्थ है कि वह वर्जिन है। स्टडी में पाया गया है कि कुंवारे और वर्जिन लड़कों को शादीशुदा और वर्जिनिटी खो चुके लड़कों की अपेक्षा जितनी तेजी से उत्तेजना होती है, वे उतना ही जल्दी स्खलित भी हो जाते हैं। जबकि वर्जिनिटी खो चुके लड़के लंबे समय तक सेक्स करते हैं और सबसे अंत में ऑर्गेज्म तक पहुंचते हैं।

लड़के को होती है ब्लीडिंग – जी हां, गुप्तांगों से ब्लीडिंग होना सिर्फ महिलाओं की ही वर्जिनिटी का संकेत नहीं होता है, बल्कि इसके आधार पर पुरुषों के भी वर्जिनिटी की जांच की जाती है। वास्तव में वर्जिन लड़कों के पेनिस का फोरस्किन (foreskin) बहुत टाइट होता है और इंटरकोर्स के दौरान इसमें से खून निकलता है। हालांकि ब्लीडिंग बहुत कम होती है, लेकिन वर्जिनिटी भंग होने पर ही निकलती है। अगर किसी लड़की को लड़के की वर्जिनिटी पता करनी है तो वह सेक्स के दौरान इन लक्षणों के आधार पर पहचान सकती है की लड़का वर्जिन है या नहीं ।

वर्जिन लड़के को फोरप्ले करने नहीं आता – फोरप्ले सेक्स को चरम पर ले जाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। फोरप्ले करने से न सिर्फ लड़के को आनंद आता है बल्कि लड़की को भी सेक्स का बेहतर सुख मिलता है। लेकिन यदि कोई लड़का वर्जिन है और वह पहली बार सेक्स करने जा रहा है तो उसे यह नहीं मालूम होता है कि फोरप्ले क्या होता है, इसे कैसे करते हैं और क्यों करते हैं। वह फोरप्ले से शुरूआत न करके बिस्तर पर अपनी पार्टनर के साथ सीधे सेक्स करने की कोशिश करता है। सेक्स करने के इस नौसिखिए अंदाज से आप आसानी से परख सकती हैं कि लड़का वर्जिन है।

loading...
=>

Related Articles