जौनपुर:अवैध रूप से बनाये जा रहे मन्दिर व मस्जिद को प्रशासन ने ढहवाया

सर्किल के तीनों थानों की भारी पुलिस फोर्स सहित सीओ,एसडीएम रहे मौजूद

जौनपुर – क्षेत्र के मुबारकपुर गॉव में बीते एक पखवारे से चर्चित अवैध निर्माणाधीन मन्दिर और मस्जिद की दीवार तथा पिलर को पुलिस प्रशासन ने बुलडोजर चलवाकर जमीदोंज करवा दिया। इस दौरान अराजकतत्वों ने मामले को साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश की। परन्तु एसडीएम शाहगंज राजेश कुमार वर्मा, क्षेत्राधिकारी शाहगंज अजय कुमार श्रीवास्तव की मौजूदगी व सख्त तेवर के चलते अराजकतत्वों की एक न चली। सीओ अजय कुमार श्रीवास्तव ने उपद्रवियों से निपटने के लिए भारी पुलिस फोर्स से मॉक ड्रिल करवाकर पांच पांच की संख्या में एक एक उपनिरीक्षक के साथ चारों दिशाओं में फैलाकर तमाशबीन बनी भीड़ को दो सौ मीटर दूर खदेड़वा दिया।उसके बाद पुलिस प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए जेसीबी मशीन से मन्दिर मस्जिद की अर्धनिर्मित दीवारों को ढहवा दिया तथा विवादित स्थल पर पक्की पैमाइश होने तक किसी भी पक्ष से नवनिर्माण पर रोक लगा दी है।

ज्ञात हो कि गांव में एक पखवारा पूर्व आम सहमति से एक सम्प्रदाय के लोगों के द्वारा मस्जिद का निर्माण शुरू किया गया। उसके कुछ दिन बाद मस्जिद के सामने दूसरे सम्प्रदाय के लोगों के द्वारा भगवान कृष्ण की मूर्ति को रखकर मन्दिर का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया। विवाद यहीं से शुरू हो गया।

अल्पसंख्यक समुदाय का कहना था कि नई मस्जिद, पुरानी मस्जिद के नाम से दर्ज जमीन मे बनाई जा रही है। जबकि बहुसंख्यक समाज के लोगो का कहना है कि मस्जिद ग्राम समाज की जमीन को कब्जाने की नियति से बन रही थी।बहरहाल, शनिवार को विवाद की जानकारी होते ही थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर दुर्गेश्वर मिश्रा मौके पर पहुंच दोनों का निर्माण रोकवा दिया तथा अतिसंवेदनशील मामला जानकर अपने उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। सूचना पर शनिवार की शाम गॉव पहुंचे उप जिलाधिकारी शाहगंज राजेश वर्मा और सीओ अजय श्रीवास्तव ने दोनों पक्षों से बात की तथा बिना परमिशन के बने अवैध निर्माण को दोनों पक्षो से तत्काल ढहाने का आदेश दिया। परन्तु ग्रामीण उच्चाधिकारियों की बात पर राजी नहीं हुए। जिस पर दोनों अधिकारियों ने ग्रामीणों को सख्त चेतावनी देते हुए अवैध निर्माण खाली कराने हेतु कुछ घण्टो की मोहलत दिया। लेकिन ग्रामीण अपनी जिद्द पर अड़े रहे। आधी रात को उपस्थित पुलिस वहाँ स्थापित की गई कृष्ण भगवान की मूर्ति थाने उठा लायी। इस बात की जानकारी होते ही रात में ही ग्रामीण पुलिस की आंखों में धूल झोकते हुए वहां दूसरी साईंबाबा की मूर्ति रख दिये।

मामला साम्प्रदायिक रूप में बिगड़ता देख रविवार की दोपहर दुबारा मौके पर पहुँचें एसडीएम और सीओ ने महिला पुलिस तथा खेतासराय, सरपतहा और शाहगंज थाने की पुलिस फोर्स बुला लिया। एसडीएम तथा सीओ ने पुनः दोनों पक्षो से अर्धनिर्मित निर्माण कार्य गिराने का आदेश ग्रामीणों को दिया। परन्तु आदेश की अवहेलना करने पर भारी पुलिस बल के साथ जेसीबी मशीन से निर्माणाधीन दीवारों तथा पिलरों को ढहाना शुरू कर दिया। करीब तीन घंटे तक चली कार्यवाही के बीच दोनों नवनिर्माण को जमीदोंज कर दिया गया। इस दौरान तमाशबीन बनी भीड़ को पुलिस ने कई बार खदेड़ कर स्थिति को संभाला।

Posted by : sp.verma

loading...
=>