Main Sliderकारोबार

लग्जरी कारें और होंगी महंगी, जीएसटी परिषद ने बढ़ायी सेस

नयी दिल्ली। जीएसटी परिषद की शनिवार को हुई बैठक में लग्जरी कारों पर लगने वाले सेस को बढ़ा दिया गया है। साथ ही, जीएसटीएन भरने की आखिरी तारीख बढ़ाकर 10 अक्टूबर कर दी गयी है। इस बैठक में एसयूवी पर लगने वाले सेस में 7 फीसदी, लक्जरी कारों पर लगने वाले सेस में 5 फीसदी, मिड साइज कारों पर लगने वाले सेस में 4 फीसदी और छोटी कारों पर लगने वाले सेस में 2 फीसदी की बढ़ोतरी की गयी है।

 

जीएसटी परिषद की बैठक के बाद संवाददाओं को संबोधित करते हुए वित्तमंत्री अुरण जेटली ने कहा सकल जीएसटी संग्रहण बेहतर रहा है। देश के 70 फीसदी से अधिक पात्र करदाताओं ने करीब 95,000 करोड़ रुपये के रिटर्न दाखिल किये हैं. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भुना चना, इडली डोसा बटर, खली, रेनकोट, रबर बैंड समेत करीब 30 सामानों पर जीएसटी कर की दर कम की गयी है।

 

जेटली ने कहा किजिन कंपनियों का अपने उत्पाद के लिए 15 मई, 2017 को ट्रेडमार्क पंजीकृत था, उन्हें पांच फीसदी की दर से जीएसटी देना होगा. खादी ग्रामोद्योग के स्टोर से बेची जाने वाली खादी पर जीएसटी से छूट होगी। छोटी कारों पर सेस के जरिये बोझ नहीं डाला जायेगा। छोटी पेट्रोल, डीजल और हाइब्रिड कारों पर सेस में कोई वृद्धि नहीं की गयी है। मध्यम श्रेणी की कारों पर दो फीसदी सेस लगेगा और बड़ी कारों पर पांच फीसदी तथा एसयूवी पर सात फीसदी सेस लगेगा।

इसके साथ ही, पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने कहा कि इस बैठक में जीएसटीआर 1, जीएसटीआर 2 की तारीख आगे बढ़ा दी गयी हैं. जीएसटी की तैयारी पूरी नहीं थी। हरियाणा के वित्त मंत्री अभिमन्यु सिंह ने कहा कि जीएसटी को लेकर हरियाणा के व्यापारियों ने उत्साह दिखाया है. देश में सबसे ज्यादा आईजीएसटी हरियाणा में जमा हुआ है। जीएसटीएन के सॉफ्टवेयर पर काफी दबाव था. शुरुआती दौर में हर जगह दिक्कतें आती हैं।

वहीं, जम्मू-कश्मीर के वित्त मंत्री हसीब द्राबू ने कहा कि जीएसटीएन की दिक्कतें दूर करने के लिए 5 मंत्रियों की समिति बनेगी. समिति जीएसटी कांउसिल से बात करेगी। अखरोट पर जीएसटी 12 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया है।

loading...
Loading...

Related Articles