Wednesday, November 25, 2020 at 7:13 AM

महादेव का आया सबसे बड़ा सच सामने, महादेव और माता पार्वती के दो पुत्र नहीं बल्कि तीन बेटे और एक बेटी भी थी,पढ़े पूरी कहानी

देवों के देव महादेव और माता पार्वती के दो पुत्र थे एक भगवान श्रीगणेश और दूसरे कार्तिकेय। लेकिन क्या आपको पता है भगवान भोलेनाथ के दो नहीं बल्कि तीन बेटे थे और एक बेटी भी थी।

जी हां भगवान विष्णु के तीसरे बेटे का नाम था अय्यपा और बेटी थी अशोक सुंदरी।

शास्त्रों के अनुसार, अयप्पा को महादेव और मोहनी का पुत्र ही बताया जाता है। राक्षसराज भस्मासुर को वरदान मिला कि वह जिसके सिर पर हाथ रखेगा वो भस्म हो जाएगा तो भस्मासुर भगवान शिव के ही पीछे पड़ गया। तब फिर शिव जी ने विष्णु जी से सहायता मांगी थी।

तब भगवान विष्णु ने मोहिनी का रूप धारण किया और भस्मासुर के सामने आ गए। मोहनी के आकर्षण से आकर्षित होकर भस्मासुर ने उनके लिए प्रेम जताया।

इस पर मोहिनी ने कहा कि, ‘अगर आप मुझसे प्रेम करते हैं तो सिर पर हाथ रखकर कसम खाइए।’ बस फिर क्या था।

भस्मासुर ने बिना देर किए सिर पर हाथ रख लिया। आखिरकार वो खुद ही भस्म हो गया।

एक कथा यह भी हैं कि जब भस्मासुर भस्म हो गया तो मोहिनी के रूप को देखकर भगवान शिव ही आकर्षित हो गए।

आखिरकार इस तरह हुआ भगवान अयप्पा का जन्म। केरल में स्थित अयप्पा मंदिर को सबरीमाला के नाम से जाना जाता है।

यह भी बता दें कि भगवान भोलेनाथ के एक बेटी भी है। पद्म पुराण के अनुसार, एक बार माता पार्वती विश्व में सबसे सुंदर उद्यान में जाने के लिए भगवान शिव से कहा।

तब भगवान शिव पार्वती को नंदनवन ले गए, वहां माता को कल्पवृक्ष से लगाव हो गया और उन्होंने उस वृक्ष को लेकर कैलाश आ गईं। एक बार भगवान भोलेनाथ तप करने के लिए चले गए।

माता अकेली थी। अपने अकेलेपन को दूर करने हेतु पार्वती ने उस कल्प वृक्ष से यह वर मांगा कि उन्हें एक कन्या प्राप्त हो, तब कल्पवृक्ष द्वारा अशोक सुंदरी का जन्म हुआ।

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *