एटीएस कमांडो ने खुद को गोली से उड़ाया

लखनऊ। एटीएस मुख्यालय में एटीएस कमांडो ने गोली मारकर आत्महत्या कर ली। मौके  से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला  है, जिससे घटना का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। आत्महत्या की वजह तनाव बताई जा रही है। फिलहाल पुलिस ने आत्महत्या की वजह की जांच शुरू कर दी है।
जानकारी के मुताबिक , जनपद गोरखपुर के थाना क्षेत्र गगहा के ग्राम चिउठहा निवासी बृजेश कुमार यादव पुत्र सोमनाथ यादव उम्र 40 वर्ष 2006 बैच के आरक्षी और  सरोजनीनगर थाना क्षेत्र के अमौसी  स्थित एटीएस कार्यालय के हॉस्टल में रह रहे थे। आरक्षी बृजेश कुमार ने मंगलवार की सुबह अपनी सर्विस रिवाल्वर से  खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। सर्विस रिवाल्वर से कनपटी से सटाकर कर चलाई गई गोली सिर के आरपार हो गई। एटीएस आरआई पवन त्यागी के मुताबिक मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। आत्महत्या का कारण परिवारिक कलह बताया जा रहा । घटना की सूचना पर मौके  एटीएस के कई अधिकारी, पुलिस और डाग स्क्वायड की टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया । पुलिस ने शव कब्जे में लेते हुए जांच शुरू कर दी है।
बताया जा रहा है कि आरक्षी बृजेश शराब का भी आदी था। मौके से एक शराब की बोतल गिलास सर्विस पिस्टल मिली है,  जिसमें दो कारतूस थे। साथ ही 12 बोर के 15 कारतूस नाइन एमएम के 32 एक चेम्बर और फर्श पर खोखा पड़ा मिला।

इससे पहले की घटनाएं
– 29 मई 2018-एटीएस में तैनात एएसपी राजेश साहनी ने ड्यूटी के दौरान खुद को गोली मार ली। विभागीय उत्पीड़न सामने आया।
– 09 जून 2018-हरदोई में डायल 100 में तैनात दारोगा राजरतन वर्मा ने आलमबाग स्थित क्वार्टर में गोली मार ली। यहां भी विभागीय उत्पीड़न  की बात सामने आई।
– 30 अगस्त 2019-सुरक्षा मुख्यालय में तैनात हेड कांस्टेबल देवी शंकर मिश्रा ने विभागीय उत्पीड़न  से परेशान होकर आत्महत्या कर ली।
– 2 सितंबर 2019-सहारा स्टेट में रिश्तेदार के घर तबादले से परेशान एएसआइ धर्मेंद्र कुमार मिश्रा ने आत्महत्या कर ली।

loading...
=>