उत्तर प्रदेशहरदोई

हरदोई में अम्रत योजना बनी शहर के लिए बवाले जान

बूढ़े बच्चे महिलाओं के मुसीबत,जगह-जगह हुए गड्ढे निकलना हुआ लोगों का मुश्किल

हरदोई।अमृत योजना के अंतर्गत हरदोई शहर के विभिन्न मोहल्लों में जेसीबी मशीनों से खुदाई कर पाइप लाइन डाली जा रही है।इन पाइप लाइनों को खोदने, पाइप डालने के तदुपरांत गड्ढों को भरने में जमकर लापरवाही बरती जा रही है।ठेकेदार मनमानी पर उतारू हैं,जल निगम निर्माण इकाई का कोई भी अभियंता,अवर अभियंता या विभागीय कर्मचारी मौके पर मौजूद नहीं रहता है।और ना ही नगरपालिका हरदोई के अधिशासी अधिकारी द्वारा अमृत योजना के अंतर्गत जल निगम द्वारा कराए गए कार्यों की मॉनिटरिंग ही की जाती है। जिसके चलते विभिन्न मोहल्लों में सुंदर तरीके से बिछाए गए इंटरलॉकिंग ईंटों से बनी पटरी ईंट खड़ंजा दुर्दशा के शिकार हो गए हैं।मोहल्लों में गड्ढे खोदे गए पाइप लाइन डाली गई गड्ढों को उल्टे सीधे तरीके से पाट कर रस्म अदायगी कर दी गई ,कई पटरी के नीचे मोटरसाइकिल जैसे ही उतरते हैं सीधे गड्ढे में जा रहे हैं जिसके चलते कई लोग चोटिल भी हो चुके हैं। शहर के अनेकों मोहल्ले में अमृत योजना द्वारा जल निगम द्वारा के ठेकेदारों द्वारा बिछाई गई पाइप लाइनों में बढ़ती जा रही लापरवाही साफ तौर पर देखी जा सकती है।जिला प्रशासन को चाहिए कि वह नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी या जिला प्रशासन से जुड़े डीआरडीए अतिरिक्त मजिस्ट्रेट की सीधी निगरानी में अमृत योजना द्वारा कराए जाने वाले कार्यो पर सीधी निगाह रखें,जिससे कि जिन मोहल्लों में यह निर्माण कार्य कराया जा रहा है वहां के निवासियों को दिक्कतों उठाना न पड़े और सड़कों की पटरियों की दुर्दशा होने से बच सकें।

loading...
Loading...

Related Articles