Main Sliderउत्तर प्रदेशलखनऊशिक्षा—रोजगार

विवि की गोद लेने की पहल सराहनीय

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विवि के 17वां दीक्षांत समारोह का आयोजन

जल पुरुष ने कहा, जल संचयन के लिए युद्ध स्तर पर पहल करनी होगी

लखनऊ। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विवि का 17वां दीक्षांत समरोह बुधवार को एकेटीयू परिसर के अटल विहारी बाजपेई बहुउद्देशीय सभागार में राज्यपाल व कुलाधिपति आनंदीबेन पटेल की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। इस मौके पर बतौर मुख्य आगंतुक पहुंचे जल पुरुष राजेंद्र सिंह को डीलिट् की मानद उपाधि प्रदान की गई। दीक्षांत में 62 पीएचडी छात्र-छात्राओं को उपाधि दी गई। साथ ही कुल 66 मेधावियों को स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक दिये गये। बीटेक कंप्यूटर साइंस की दीक्षा सिंह, जिन्होंने सबसे अधिक अंक प्राप्त किये हैं को कुलाधिपति स्वर्ण पदक दिया गया। कुल 58 हजार 699 छात्र-छात्राओं को विभिन्न पाठ्यक्रमों में उपाधि प्रदान की गई। इसके अलावा प्राथमिक, माध्यमिक विद्यालय और परमार्थ के 30 बालक-बालिकाओं को सम्मानित किया गया।

इस मौके पर गवर्नर ने कहा कि ग्रामीण विकास के लिए विश्वविद्यालय द्वारा गांव गोद लेने की योजना सराहनीय कदम है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के घटक संस्थान आईईटी लखनऊ के छात्र-छात्राओं द्वारा ऐसे वंचितों के लिए परमार्थ नाम से सायंकालीन कक्षायें चलायी जा रही हैं जोकि प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में टीचिंग-लर्निंग में बड़ा पैराडाइम शिफ्ट हुआ है, स्किल ओरिएंटेड और प्रोडक्ट बेस्ड लर्निंग की अवधारणा मूर्तरूप ले रही है इसलिये इनोवेशन और इन्क्युबेशन इंटरप्रन्योरशिप (स्वरोजगार) का मुख्य उपकरण बन गये हैं। गवर्नर ने कहा कि एकेटीयू स्वयं को डिजिटल करने की प्रतिबद्धता पर खरा उतरा है। यहां पर परीक्षा फार्म, पेपर डिलिवरी, मूल्यांकन, परिणाम, टेंडर, सम्बद्धता, से लेकर बिल पेमेंट तक सभी कार्य डिजिटल और आॅनलाइन कर दिए गये हैं।

एक नवंबर से विवि ई-आॅफिस के माध्यम से पूर्ण कार्यप्रणाली संचालित करने जा रहा है। प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी ने कहा कि विवि परिसर में वन टाइम यूजेबल प्लास्टिक के प्रयोग को निषेध किया गया है। कुलपति प्रो विनय कुमार पाठक ने विवि की प्रगति आख्या प्रस्तुत की। जल पुरुष राजेंद्र सिंह ने कहा जल ही जीवन है और हमें जल संचयन के लिए युद्ध स्तर पर पहल करनी होगी। उन्होंने कहा कि विवि द्वारा गांव गोद लेकर जल संचयन के लिए प्रोजेट्स शुरू किये जाने की पहल करना सराहनीय कदम है। इस दौरान कुलसचिव नन्द लाल सिंह, प्रतिकुलपति प्रो विनीत कंसल, विद्या परिषद् और कार्य परिषद् के सदस्य तथा डीन सहित मीडिया इंचार्ज आशीष मिश्र व अन्यजन मौजूद रहें।

loading...
=>

Related Articles