कानपुर

सीएसजेएमयू में मोबाइल पर छात्र-छात्राओं के बात करने पर लगी पाबंदी

कानपुर। विश्वविद्यालय व डिग्री कॉलेजों में लगातार खराब हो रही शैक्षणिक व्यवस्था के लिए मोबाइल फोन को जिम्मेदार माना गया है। चाहे विद्यार्थी हों या शिक्षक जिम्मेदारों की नजर इधर.उधर होते ही हाथ मोबाइल पर ही चला जाता है। कक्षा में छात्र.छात्रएं पढ़ने के बजाय मोबाइल से बात करने, फेसबुक चलाने व वाट्सएप पर चैटिंग करने में व्यस्त रहते हैं। इससे पढ़ाई पर विपरीत प्रभाव पढ़ता है। उच्च शिक्षा निदेशालय ने इसे गंभीरता से लेते हुए सीएसजेएमयू परिसर में मोबाइल फोन का प्रयोग करने पर रोक लगा दी गई है। छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय सहित अन्य महाविद्यालयों में भी यह आदेश लागू हो रहा है। इस निर्णय से डिग्री कक्षाओं में बाधा रहित पढ़ाई हो सकेगी।
कुलपति प्रो.नीलिमा गुप्ता का कहना है कि,मोबाइल पर चैटिंग, सोशल मीडिया पर समय देने से अच्छा है कि छात्र पढ़ाई करें। उन्होंने बताया कि,गुरुवार से विश्वविद्यालय में आदेश प्रभावी हो गया है। छात्र.छात्राओं को यह भी बताया जाएगा कि मोबाइल पर ज्यादा समय बिताने से क्या.क्या नुकसान होते हैं। मोबाइल रखने पर पाबंदी नहीं है, लेकिन यदि कोई मोबाइल का प्रयोग करते पकड़ा जाएगा तो उस पर कार्रवाई होगी।
loading...
=>

Related Articles